मंदिरों के शहर पर चढ़ा त्यौहारी रंग, बाजारों में हर तरफ खरीदारी का जोर

शनिवार 27 अक्टूबर को करवाचौथ, सात नवंबर को दीपावली और उसके बाद भाई दूज का त्यौहार। त्यौहारों के इस मौसम में लोग जरूरी सामान की जमकर खरीददारी कर रहे हैं। विक्रेताओं का कहना है कि पिछले वर्ष के मुकाबले बाजार में इस वर्ष ग्राहक बढ़े हैं।

गांधी नगर के अप्सरा रोड, गोल मार्केट क्षेत्र व पुराने शहर के मुख्य बाजारों में महिलाओं की खासी भीड़ जुट रही है। करवाचौथ के त्योहार को लेकर महिलाओं ने साड़ी, चूड़ी सहित श्रृंगार की अन्य वस्तुओं की जमकर खरीददारी की। इसके अलावा बाजारों में मेहंदी लगाने वालों ने भी डेरा जमा लिया है। 75 रुपये से लेकर 1500 रुपये तक में महिलाओं व युवतियों को मेहंदी लगाई जा रही है। इसके अलावा कपड़ों, फुटवियर और श्रृंगार की दुकानों पर महिलाओं का हुजूम उमड़ रहा है।
पुरानी मंडी में सजा विशेष बाजार

करवाचौथ को लेकर इन दिनों पुरानी मंडी में विशेष बाजार सजा है। प्राचीन हनुमान मंदिर के साथ लगते पार्क के एक तरफ ग्रामीण इलाकों से विक्रेता मिट्टी के करवा लेकर आए हैं। ये कारीगर मौके पर ही करवा को पेंट करके तैयार कर रहे हैं और यहां पर पूरा दिन खरीददारों की भीड़ उमड़ रही है। इसके अलावा त्योहारों के मद्देनजर घर की सजावट का सामान भी यहां पर उपलब्ध है। घर के लिए रेडीमेड रंगोली से लेकर झालर तक यहां पर उपलब्ध हो रही है। उधर, दूसरी तरफ राम मंदिर के साथ लगती गली में मेहंदी लगाने वाले कारीगरों ने अपना बाजार सजा लिया है।

राजस्थान से आए इन कारीगरों ने अपनी छोटी-छोटी दुकानें लगा ली है और दिन भर यहां पर मेहंदी लगाने वालों की भीड़ उमड़ रही है। श्रृंगार के लिए पुराने शहर के पटेल बाजार में इन दिनों मारामारी मची है। इस बाजार में महिलाओं के श्रृंगार का हर सामान उपलब्ध है। आलम यह है कि इस बाजार में कोई गलती से भी दो पहिया वाहन लेकर जाने को तैयार नहीं। इस बाजार में जगह-जगह मेहंदी लगाने के लिए दुकानों में कारीगर भी बिठाए गए हैं जहां पर महिलाएं व युवतियां खरीददारी करने के साथ मेहंदी लगवा रही हैं। इसके अलावा आर्टिफिशियल ज्वैलरी के लिए महिलाएं पटेल बाजार व साथ लगते राजतिलक रोड पर खरीददारी करने पहुंच रही है।

पुरानी मंडी व साथ लगते इलाकों में त्योहारों की खरीददारी के लिए उमड़ रही भारी भीड़ को देखते हुए चार पहिया वाहनों के एक तरफा प्रवेश पर रोक लगाई गई है। अभी तक तो परेड से पुरानी मंडी जाने पर रोक है लेकिन आने वाले दिनों में भीड़ को देखते हुए सिटी चौक से पुरानी मंडी की ओर जाने वाले चार पहिया वाहनों पर भी रोक लग सकती है क्योंकि पिछले साल भी करवाचौथ से पूर्व इस मार्ग को चार पहिया वाहनों के लिए पूरी तरह से बंद कर दिया गया था।