वायु प्रदूषण से होती है दिल की बीमारी : डॉ. सुशील

वायु प्रदूषण से हृदय संबंधी बीमारियों को न्यौता मिलता है। इसलिए आने वाली दीपावली में सभी को पटाखे फोड़ने के बजाय ईको फ्रेंडली दीपावली मनानी चाहिए।

कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. सुशील कुमार शर्मा और उनकी टीम ने कंगरेल स्थित कालीवीर के देवस्थान पर रविवार को एक दिवसीय चिकित्सा शिविर में 250 मरीजों के स्वास्थ्य की जांच की। उन्होंने मरीजों को जागरूक करते हुए बताया कि वाहन, औद्योगिक इकाइयों से निकलने वाला प्रदूषण सीधा-सीधा हृदय संबंधी बीमारियों को बुलावा देता है। पहले श्वास संबंधी बीमारी होती है जो बाद में अन्य बीमारियों को रूप ले लेती हैं। उन्होंने आने वाली दीपावली में आतिशबाजी से परहेज करने और मिट्टी के दीये जलाने की सलाह दी। उन्होंने बताया कि आतिशबाजी से निकलने वाले धुएं में कैडमियम, लिथियम, एंटीमोनी, रुबिडियम, स्ट्रांटियम, लेड और पोटेशियम नाइट्रेट जैसे हानिकारक केमिकल होते हैं जो सेहत के लिए काफी घातक साबित होते हैं। इससे उच्च रक्तचाप और तनाव की स्तर काफी बढ़ जाता है जो किसी भी बीमारी से ग्रस्त मरीजों के लिए उचित नहीं होता है।

देवस्थान प्रबंधन कमेटी के वीरेन्द्र ¨सह चिब, राजेश चिब, दलबीर और राजेन्द्र चिब ने डॉ. सुशील कुमार शर्मा सहित उनकी टीम में शामिल डॉ. धनेश्वर कपूर, डॉ. केवल शर्मा और अन्य पैरामेडिकल स्टॉफ का आभार जताया।