आसिया अंद्राबी को 12 को अदालत में पेश होने के निर्देश

भारत में प्रतिबंधित संगठन दुख्तरान- -ए-मिल्लत प्रमुख आसिया अंद्राबी व उसकी दो अन्य सहयोगी अलगाववादी महिलाओं के खिलाफ दायर आरोप पत्र पर अदालत ने संज्ञान ले लिया है। पटियाला हाउस की विशेष अदालत ने तीनों आरोपितों के प्रोडक्शन वारंट जारी कर 12 दिसंबर को कोर्ट में पेश होने के लिए कहा है। अदालत ने तिहाड़ जेल प्रबंधन को आरोपितों को पेश करने को कहा है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने 14 जून को आरोप पत्र दाखिल किया था। पटियाला हाउस की विशेष अदालत में दाखिल किए गए आरोप पत्र में कहा गया है कि आसिया अंद्राबी व उसका संगठन देश विरोधी गतिविधियों में संलिप्त है।

देश के खिलाफ माहौल बनाने और सोशल प्लेटफार्म पर भड़काऊ भाषण देने सहित कई तथ्यों का जिक्र एनआइए ने आरोप पत्र में किया है। आसिया अंद्राबी, सोफी फहमीदा और नहीदा नसरीन को गत जुलाई में गिरफ्तार किया गया था।

इन पर देश के खिलाफ कथित तौर पर जंग छेड़ने सहित कई संगीन आरोप हैं। एनआइए के मुताबिक आसिया और उसके सहयोगी साइबरस्पेस पर पाकिस्तान के समर्थन में अभियान चला रहे थे।