रथ ने विदाई संदेश में कहा, पूर्व डीजीपी ने की थी उनको हटाने की पूरी कोशिश

पूर्व पुलिस महानिरीक्षक (आई.जी.पी.) ट्रैफिक बसंत रथ ने शुक्रवार को कहा कि पूर्व महानिदेशक (डी.जी.पी.) के. राजेन्द्र ने उनको वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जम्मू से हटाने की पूरी कोशिश की थी लेकिन दूसरे वरिष्ठ अधिकारी उनके साथ खड़े रहें। अपने फेसबुक प्रोफाइल पर अपने विदाई संदेश में रथ ने लिखा कि देवियों और सज्जनों, यह मेरे लिए धन्यवाद देना का समय है। मैंने अपने उत्तराधिकारी को आई.जी. ट्रैफिक का प्रभार सौंप दिया है। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। रथ ने कहा कि वैद साहब (पूर्व डी.जी.पी., एस.पी. वैद)के बिना, मैं अपनी पसंद के अधिकारियों की एक टीम नहीं बना सकता था। उनके समर्थन के बिना, मुझे यह कार्यभार नहीं मिला होता। उनके समर्थन के बिना, मैं चीजों को अपने तरीके से करने में सक्षम नहीं होता।

श्रीनगर :पूर्व पुलिस महानिरीक्षक (आई.जी.पी.) ट्रैफिक बसंत रथ ने शुक्रवार को कहा कि पूर्व महानिदेशक (डी.जी.पी.) के. राजेन्द्र ने उनको वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जम्मू से हटाने की पूरी कोशिश की थी लेकिन दूसरे वरिष्ठ अधिकारी उनके साथ खड़े रहें। अपने फेसबुक प्रोफाइल पर अपने विदाई संदेश में रथ ने लिखा कि देवियों और सज्जनों, यह मेरे लिए धन्यवाद देना का समय है। मैंने अपने उत्तराधिकारी को आई.जी. ट्रैफिक का प्रभार सौंप दिया है। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। रथ ने कहा कि वैद साहब (पूर्व डी.जी.पी., एस.पी. वैद)के बिना, मैं अपनी पसंद के अधिकारियों की एक टीम नहीं बना सकता था। उनके समर्थन के बिना, मुझे यह कार्यभार नहीं मिला होता। उनके समर्थन के बिना, मैं चीजों को अपने तरीके से करने में सक्षम नहीं होता।
एस.डी.एस. जमवाल सर स्वीटहार्ट हैं। जम्मू के एस.एस.पी. बनने से पहले मैं पुंछ पोस्टिंग के लिए उनका कर्जदार हूं। के. राजेंद्र ने उनको हटाने की पूरी कोशिश की। एस.डी. सर ने अपने पैर जमा कर रखें। उन्होनें मुझे उनका डी.आई.जी. भी लाया और मुझे बहुत सारी जगह दी। यदि उनकी जगह कोई और आई.पी.एस. व्यक्ति आई.जी. जम्मू होता तो मैं काम करने में सक्षम नहीं होता। कश्मीर संभाग के पुलिस महानिरीक्षक (आई.जी.पी.) एस.पी. पाणी और संभागीय आयुक्त कश्मीर बसीर अहमद खान की सराहना करते हुए रथ ने अपने संदेश में कहा कि स्वयं एक भाई हैं। उन्होनें अपने संसाधनों को मेरे निपटारे में रखा। कश्मीर में बसीर खान सर, अपने संभागीय आयुक्त कार्यालय में उन लगातार बैठकों के लिए आपका बहुत बड़ा धन्यवाद और आपके अधिकारियों को वह फोन कॉल भी।