जम्मू-कश्मीर राजमार्ग पर नागरिक यातायात को मंजूरी

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षा काफिले की कोई आवाजाही निर्धारित नहीं होने के कारण बुधवार को इस पर नागरिक यातायात को मंजूरी दी गई । जबकि एक आधिकारिक आदेश के अनुसार बुधवार को इस मार्ग का इस्तेमाल विशेष रूप से बलों द्वारा ही किया जाना है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी है। सात अप्रैल को घोषणा की गई थी कि सुरक्षा काफिले के सुचारू परिचालन के लिए 270 किलोमीटर लंबा राजमार्ग 31 मई तक सप्ताह में बुधवार और रविवार को नागरिक यातायात के लिए सुबह चार बजे से शाम पांच बजे तक बंद रहेगा। पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के मारे जाने के बाद यह फैसला लिया गया था। इस प्रतिबंध की घाटी के राजनीतिक दलों, नागरिक समाज और व्यापारिक समुदायों ने कड़ी आलोचना की थी। यातायात विभाग के एक अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘नोडल एजेंसी, सीआरपीएफ ने टेलीफोन पर सूचना दी कि दिन में सुरक्षा काफिले की कोई आवाजाही नहीं है जिसके बाद आज सुबह जम्मू से श्रीनगर की ओर राजमार्ग पर सामान्य यातायात को मंजूरी दी गई।’’ हालांकि, उन्होंने बताया कि सुबह सात बजे के करीब रामबन के नजदीक अनोखी फॉल के नजदीक राजमार्ग पर भूस्खलन हुआ जिसे सड़क साफ करने वाली एजेंसी ने सुचारू यातायात सुनिश्चित करने के लिए दो घंटे में साफ कर दिया। उन्होंने बताया कि मंगलवार को राजमार्ग सहित जम्मू कश्मीर के अनेक हिस्सों में बारिश होने के बाद भूस्खलन हुआ। अधिकारी ने बताया, ‘‘अंतिम खबर आने तक यातायात सुचारू रूप से चल रहा है।’’