कश्मीर समस्या के लिए नेहरू की नीति जिम्मेदार: अमित शाह

अमित शाह ने बातचीत में जम्मू कश्मीर को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की नीति पर सवाल उठाए. अमित शाह ने कहा, ‘कश्मीर समस्या के लिए जवाहर लाल नेहरू जिम्मेदार हैं. कांग्रेस शासन में नेहरू की गलतियों को छुपाया गया. चीन को वीटो पावर पंडित नेहरू की वजह से मिली.’

इसके साथ ही बीजेपी अध्यक्ष ने जम्मू कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला के उस बयान पर भी निशाना साधा जिसमें उन्होंने कश्मीर में अलग पीएम बनाने की मांग की थी. अमित शाह ने कहा, ‘कश्मीर में अलग पीएम बनाने की कोशिशों को हम कामयाब नहीं होने देंगे. कश्मीर हमेशा भारत का अभिन्न अंग रहेगा.’

मसूद अजहर को ग्‍लोबल आतंकी घोषित किए जाने में चीन द्वारा बार-बार रोड़े अटकाए जाने के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि हमने डोकलाम के वक्‍त भी चीन के साथ पूरी दृढता के साथ काम किया. आज कश्‍मीर समस्‍या के लिए पंडित नेहरू के कुछ फैसले जिम्‍मेदार है, इसे कौन नहीं जानता. उस वक्‍त पूरा कश्‍मीर हमारे पास आ सकता था.

अमित शाह ने कहा कि हमने उत्‍तर प्रदेश में चार करोड़ 11 लाख लोगों को सीधा लाभ दिया. हम अपने नए वोट बैंक से वाकिफ हैं. हम यूपी का पूरा चुनाव मोदी जी द्वारा किए गए कार्यों के आधार पर लड़े. ​उन्‍होंने कहा कि क्‍या ये कांग्रेस मुक्‍त भारत पार्ट टू होगा, इस पर उन्‍होंने कहा कि और पांच साल उनको सत्‍ता से दूर ही रहना है. बीजेपी की ही सरकार बनेगी. ​

​बीजेपी अध्‍यक्ष ने कहा कि मेरे लिए सौभाग्‍य का विषय है कि मैं लोकसभा चुनाव लडूं और जनता द्वारा चुनकर लोकसभा में आऊं. ​उन्‍होंने कहा कि मैं बूथ पर काम करने वाला पोस्‍टर चिपकाने वाला व्‍यक्ति था. आज बीजेपी का राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बनना मेरे लिए गौरव की बात है.