जम्मू-कश्मीर : IED ब्लास्ट में मेजर और जवान शहीद, आतंकियों ने नौशेरा सेक्टर में लगाया था विस्फोटक

जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में एलओसी के पास आईईडी ब्लास्ट में सेना के एक मेजर और एक जवान शहीद हो गए। सेना के मुताबिक, आतंकियों ने जवानों को निशाना बनाने के लिए नौशेरा सेक्टर के लाम बेल्ट में विस्फोटक लगाया था। इसे पाकिस्तान की सीमा से सटे इलाके में सबसे भीषण हमला माना जा रहा है।

जवान को बचाने में शहीद हुए मेजर : यह हमला तब हुआ है, जब पाकिस्तानी अधिकारियों ने भारत से शांति वार्ता के संकेत दिए थे। हालांकि, भारतीय सेना प्रमुख ने कहा था कि पाकिस्तान ने इस तरह के प्रयास कई बार किए, जो हर बार खोखले साबित होते हैं। सेना के प्रवक्ता ने फिलहाल मृतकों की संख्या का खुलासा नहीं किया है। हालांकि, सेना और खुफिया विभाग के आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, इस हमले में दो धमाके हुए। पहले धमाके में एक जवान शहीद हो गया। वहीं, उस जवान को बचाने गए मेजर ने दूसरे धमाके में अपनी जान गंवा दी।

शुक्रवार दोपहर हुआ धमाका : सेना क प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने बताया, ‘‘शुक्रवार दोपहर करीब 3 बजे एलओसी के पास आईईडी धमाका हुआ, जिसमें एक आर्मी अफसर और जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें तुरंत मेडिकल सहायता मुहैया कराई गई, लेकिन उनकी मौत हो गई। इसके अलावा तीन अन्य जवान इस हमले में घायल हुए हैं।’’

BAT का हाथ होने की आशंका : फिलहाल सेना के अधिकारियों ने हमलावरों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। हालांकि, इस तरह के मामलों में पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) का हाथ माना जाता है। सूत्रों का कहना है कि इस टीम में पाकिस्तानी सेना के जवानों के साथ-साथ कई आतंकी भी शामिल हैं।