जल्द ही जम्मू और श्रीनगर में दौड़ेगी मेट्रो रेल, 4 साल में पूरा होगा काम

अगले 4 साल के अंदर जम्मू-कश्मीर की दोनों राजधानी जम्मू और श्रीनगर को मेट्रो ट्रेन की सुविधा मिल सकती है। राज्यपाल सत्यपाल मलिक के नेतृत्व वाली जम्मू-कश्मीर सरकार ने घोषणा की कि देश में पहली बार लाइट रेल सिस्टम मेट्रो के लिए काम जल्द शुरू होगा। दोनों शहरों में मेट्रो के पहले चरण के लिए लगभग 8500 करोड़ रुपये की लागत को मंजूरी दी गई है। इसे कर्ज, राज्य की इक्विटी और केंद्र की सहायता के माध्यम से फंड किया जाएगा।

राज्यपाल के शासन व्यवस्था ने दो लाइट रेल ट्रांजिट सिस्टम के लिए इलेवेटेड कॉरिडोर विकल्प की मंजूरी दी है। जम्मू-कश्मीर के योजना विभाग के प्रमुख सचिव रोहित कंसल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि आरआईटीईएस (रेल इंडिया टेक्निकल ऐंड इकनॉमिक सर्विसेस) ने प्रॉजेक्ट के लिए डीपीआर को फाइनल कर दिया है। रोहित राज्य सरकार के प्रवक्ता भी हैं, उन्होंने बताया कि पहले चरण में एचएमटी, इंद्रानगर और ओस्मानाबाद से हजूरी बाग तक मेट्रो रेल को जोड़ा जाएगा। पहले चरण में 25 किमी का स्ट्रेच होगा जिसमें कुल 24 स्टेशन होंगे।

रोहित ने बताया कि इसी तरह फेज 2 में मेट्रो ट्रेन इंद्रा नगर के कॉरिडोर से पंपोर बस स्टैंड और हजूरी बाग से श्रीनगर एयरपोर्ट तक करीब 17.5 किमी की दूरी को कवर करेगी जिसमें 14 स्टेशन होंगे। रोहित ने बताया कि लाइट रेलवे सिस्टम के तहत भारत में पहली बार मेट्रो रेल बनाई जाएगी जिसमें लो फुटप्रिंट, धीमी आवाज और बेहतर कंफर्ट होगा। राज्य सरकार ने दो मास रैपिड ट्रांजिट कॉर्पोरेशन को शहर की सीमा के अंर्तगत सिटी बसों के संचालन के लिए प्रारंभिक कदम उठाने की मंजूरी भी दी है। रोहित ने बताया कि ये बसें स्मार्ट ई बसें होंगी जो ऐप्लिकेशन बेस्ड, एयर कंडीशंड, ऑटोमेटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम बेस्ड होंगी।