किश्तवाड़ आतंकी हमला: पुलिस को किश्तवाड़ हत्याकांड में मिले अहम सुराग

आरएसएस के प्रांत सह सेवा प्रमुख चंद्रकांत शर्मा की मंगलवार हत्या के बाद तनाव को देखते हुए कफ्र्यू में वीरवार तीसरे दिन भी कोई ढील नहीं दी गई। इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (आइजीपी) जम्मू एमके सिन्हा ने हत्या से जुड़े अहम सुराग जुटाने का दावा किया। हत्या के सिलसिले में आतंकियों के कुछ ओवरग्राउंड वर्करों को पकड़ा है। उनसे कुछ सुराग भी मिले हैं। किश्तवाड़ में हालात तनावपूर्ण हैं। इसलिए कफ्यरू को जारी रखा है। उम्मीद है कि एक-दो दिन में स्थिति सामान्य हो जाएगी।

डोगरा स्वाभिमान संगठन के अध्यक्ष चौधरी लाल सिंह को हिरासत में लेने पर आइजीपी ने कहा कि हमने लाल सिंह को हिरासत में नहीं लिया था बल्कि उन्हें रोका था। वहां उस समय एक दूसरा गुट भी मौजूद था। हमें आशंका थी कि वहां ङ्क्षहसा हो सकती है। इसलिए हमने एहतियात के तौर पर कुछ देर के लिए लाल सिंह को रोका और जब दूसरे लोग वहां से निकले तो हमने उन्हें भी दिवंगत के घर जाने की इजाजत दे दी, लेकिन वह नहीं गए। हमारा मकसद वहां कानून व्यवस्था बनाए रखना था। कफ्यरू के कारण किसी को भी घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं दी गई। जिन लोगों को कफ्र्यू पास जारी किए गए थे, उनमें से भी कई लोगों को बाहर निकलने से रोका गया। पत्रकारों को भी जाने की अनुमति नहीं दी गई। कोई भी वाहन किश्तवाड़ की तरफ न तो आया और न ही गया।