J&K: किश्तवाड़ में अब दिन में कर्फ्यू नहीं

जम्मू-कश्मीर में सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील किश्तवाड़ में दिन का कर्फ्यू हटा दिया गया है। आरएसएस के एक वरिष्ठ पदाधिकारी और उनके गार्ड की हत्या के बाद यहां पिछले एक सप्ताह से कर्फ्यू लगा हुआ था। जिला विकास आयुक्त (किश्तवाड़) अंग्रेज सिंह राणा ने पीटीआई-भाषा को बताया कि हालांकि ऐहतियात के तौर पर रात में कर्फ्यू प्रभावी रहेगा साथ ही धारा 144 के तहत चार से अधिक लोगों के इकट्ठे होने पर भी रोक रहेगी। आरएसएस के वरिष्ठ नेता चंद्रकांत शर्मा और उनके सुरक्षा गार्ड पर एक स्वास्थ्य केद्र में आतंकी हमला हुआ था, जिसमें दोनों की मौत हो गई थी। इसके बाद यहां हिंसक प्रदर्शन शुरू हो गए थे। इसे देखते हुए शहर और आस-पास के क्षेत्रों में नौ अप्रैल को कर्फ्यू लगा दिया गया था।

राणा ने बताया, ‘‘ हालात में सुधार के बाद आज सुबह छह बजे से दिन का कर्फ्यू हटा दिया गया। शहर और आस-पास के क्षेत्रों से सेना भी वापस बुला ली गई है।’’ उन्होंने बताया कि सोमवार को पहले दोपहर 12 बजे से तीन बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई और इसके बाद शाम पांच बजे से छह बजकर 30 मिनट तक के लिए फिर से कर्फ्यू में ढील दी गई। कर्फ्यू में दी गई छूट की इस अवधि के दौरान शांतिप्रिय माहौल बने रहने के बाद प्रशासन ने प्रतिबंध हटाने पर विचार किया। हालांकि इस दौरान लोगों के एक समूह ने आरएसएस नेता की हत्या में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग के साथ शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन किया। हालांकि अधिकारियों से आश्वासन मिलने के बाद प्रदर्शनकारी वापस चले गए। राणा ने बताया कि पुलिस और अर्धसैनिक बल संवेदनशील इलाकों में तैनात रहेंगे। डोडा और रामबन जिले में इंटरनेट सेवा शुक्रवार रात बहाल कर दी गई थी। वहीं किश्तवाड़ में सोमवार को हालात में सुधार के बाद यहां भी इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई। पुलिस ने इस हत्या के संबंध में कई लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है और इस हमले में इस्तेमाल की गई कार भी जब्त कर ली है। पुलिस ने कार के मालिक जाहिद हुसैन की तस्वीर भी जारी की है। किश्तवाड़ उधमपुर लोकसभा सीट के तहत आता है और यहां 18 अप्रैल को मतदान होंगे।