Coronavirus: जम्मू-कश्मीर में 8, लद्​दाख में 2 नए संक्रमित, 14 स्वस्थ होकर घर लौटे, कुछ संख्या 278 पहुंची

जम्मू-कश्मीर में आज का दिन कुछ हद तक संतोषजनक रहा। आज संक्रमित मामलों के मुकाबले स्वस्थ होकर घर लौटने वालों की संख्या अधिक रही। प्रदेश में आज जहां पूरे दिन में 8 नए कोरोना संक्रमित मामले प्रकाश में आए वहीं अस्पताल से पूरी तरह ठीक होकर घर लौटने वाले मरीजों की संख्या 14 दर्ज की गई। आज संक्रमित पाए गए आठ मामलों में 6 कश्मीर संभाग से जबकि 2 जम्मू संभाग से थे। यही नहीं लद्​दाख में भी आज दो संक्रमित मामले पाए गए हैं। केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर में कुल संक्रमित मामलों की संख्या 278 हो गई है वहीं लद्​दाख में ये संख्या 19 पहुंच गई है।

जम्मू कश्मीर सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि आज हमारी किस्सत बेहतर रही। उन्होंने लोगों से लॉकडाउन का पालन करने की एक बार फिर गुहार लगाते हुए कहा कि कोरोना पर काबू पाने के लिए शारीरिक दूरी बहुत अनिवार्य है। लोग इसका सख्ती से पालन करें। उन्होंने सभी डिप्टी कमिश्नर को यह निर्देश भी दिए कि रेड जोन घोषित इलाकों में रहने वाले लोगों को हर सुविधा मिले इसका पूरा ध्यान रखा जाए। आज कश्मीर संभाग में पाए गए छह मामलों में दो जिला बांडीपोरा से हैं। इनमें एक मरीज गुंड जहांगीर जबकि दूसरा नडखाई का रहने वाला है। इसके अलावा एक मरीज जिला अनंतनाग के नौगाम का रहने वाला है।

इसके अलावा कुलगाम के दंपति भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। वहीं जम्मू में संक्रमित पाए गए दो मामलों में गुज्जर नगर इलाके में रहने वाला एक डॉक्टर व उसका सहायक शामिल है, जो बत्रा अस्पताल में कार्यरत था। डॉक्टर के संक्रमित पाए जाने के बाद आज अस्पताल प्रबंधन व प्रशासन ने पूरे अस्पताल को सैनिटाइज किया। फिलहाल डाक्टर व उसके सहायक को आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया गया है।

वहीं लद्​दाख के स्वास्थ्य विभाग के कमिश्नर सेक्रेटरी रिग्जिन सैंफल ने बताया कि लद्​दाख में आज 50 सैंपल टेस्ट के लिए भेजे गए थे जिनमें से दो मरीज संक्रमित पाए गए हैं। इनमें एक मामला लेह के साबू गांव का जबकि दूसरा कारगिल के शकरचितन का है। शकरचितन का मरीज पहले ही क्वारंटाइन में था। उसके पॉजीटिव पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभगा की टीम ने उसके परिजनों को भी क्वारंटाइन कर लिया है। इसके अलावा गांव के अन्य 19 लोगों को निगरानी में रखा गया है। साबू गांव के मरीज व उसके परिजनों को पिछली रात को ही क्वारंटाइन कर लिया गया था। हालांकि एहतियात के तौर पर सीएमओ लेह की निगरानी में साबू फू गांव को निगरानी में ले लिया गया है। उन्होंने बताया कि साबू गांव का संक्रमित युवक केंद्रीय विद्यालय का विद्यार्थी है। उसके परिवार का एक सदस्य 3 मार्च को साऊदी अरब से यात्रा कर वापस लौटा था, उसी के संपर्क में आने से वह संक्रमित हुआ।