जम्मू: सरपंच ने अपने गांव के बाहर बिठाया पहरा, पहचान पत्र दिखाने के बाद मिल रही है एंट्री

कोरोना वायरस से निपटने के जहां केंद्र सरकार और प्रशासन अपने अपने स्तर पर काम कर रही है वहीं अब लोगों को इस महामारी से बचाने के लिए जनता भी अपने-अपने तरीके से इस महामारी से निपटने के लिए आगे आ रही है. ऐसे ही एक अनोखे प्रयास में जम्मू के बाहरी इलाके चट्ठा में एक इलाके के सरपंच ने आपने गांव के बाहर पहरा बिठा दिया है.

जम्मू के बाहरी इलाके चट्ठा फार्म के सरपंच अवतार सिंह ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने और अपने पंचायत के लोगों को इससे बचाने का अनोखा तरीका खोजा है. अवतार सिंह ने अपने पंचायत की तरफ से आने वाली मुख्य सड़क पर ना केवल पेड़ की टहनियों को काट कर बैरिकेडिंग की है बल्कि वो खुद अपने समर्थकों के साथ यहां पहरा दे रहे हैं.

अवतार सिंह के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस वैश्विक महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए लोगों से अपील कर रहे हैं. इसी कड़ी में कोई बाहर का व्यक्ति उनकी पंचायत में ना आये इसलिए वो किसी बाहरी इलाके के व्यक्ति को अपनी पंचायत में नहीं आने देंगे. उन्होंने कहा कि अगर किसी शख्स को किसी जरूरी काम के लिए उनके गांव आना है तो उनके पहचान पत्र की गांव के कुछ युवक पहले जांच करेंगे.

जिसके बाद ही किसी को गांव में आने दिया जाएगा. अवतार सिंह का दावा है कि यह कदम कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकेगा. साथ ही वो अपने पंचायत के लोगों को यह भी दावा कर रहे हैं कि कोई अपने घरों से बाहर ना निकले और अगर किसी को कोई सामान या दवाई मंगवानी है तो उनकी पंचायत के लोग उनसे संपर्क कर सकते हैं. कोई भी जरूरी समान या दवाई उनके घर पहुंचाई जाएगी.