प्रशासन ने जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग के उचित रखरखाव का आदेश जारी किया

 जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के लगातार बंद होने से चिंतित, अधिकारियों ने संबंधित एजेंसियों को इसका उचित रखरखाव सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है ताकि परिवहन के साथ-साथ पर्यटन गतिविधियों में बाधा उत्पन्न न हो सके। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। रामबन और बनिहाल खंड के बीच भूस्खलन की लगातार बढ़ती घटनाओं को देखते हुए, कश्मीर को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाले हर मौसम के अनुकूल एकमात्र 270 किलोमीटर लम्बे इस राजमार्ग पर यात्रा करना यात्रियों के लिए किसी बुरे सपने की तरह है। कई लोगों ने इसके लिए कथित खराब योजना और राजमार्ग को चार लेन बनाने संबंधी चल रहे कार्य की धीमी गति को जिम्मेदार ठहराया है। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने शनिवार को बताया कि जम्मू के संभागीय आयुक्त संजीव वर्मा ने अमरनाथ यात्रा के लिए व्यवस्थाओं का जायजा लेने के अलावा राजमार्ग के चौड़ीकरण कार्य और रेलवे परियोजनाओं की समीक्षा करने के लिए शुक्रवार को रामबन का दौरा किया था। अमरनाथ यात्रा एक जुलाई से शुरू होने वाली है। उन्होंने कहा, ‘‘वर्मा ने एक उच्च स्तरीय बैठक में इसके बारे में चर्चा की। भूस्खलन के कारण राजमार्ग के लगातार अवरुद्ध होने और लंबे समय तक यातायात जाम होने के कारण यात्रियों को होने वाली असुविधा के मुद्दे पर बैठक में चर्चा हुई।’’