अंबिका सोनी और आजाद 16 जनवरी को आएंगे जम्मू, पार्टी नेताओं से मिलकर इन मुद्दों पर करेंगे चर्चा

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी कांग्रेस की महासचिव व जम्मू-कश्मीर मामलों की प्रभारी अंबिका सोनी और महासचिव व राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद 16 जनवरी को जम्मू के दो दिवसीय दौरे पर आ रहे हैं। वे पार्टी कैडर के साथ जम्मू-कश्मीर के मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य और सुरक्षा व्यवस्था पर चर्चा करेंगे।जम्मू-कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद कांग्रेस की ओर से दो वरिष्ठ नेताओं का यह पहला दौरा है। दोनों नेता जम्मू में पार्टी के पूर्व मंत्रियों और विधायकों के अलावा अन्य वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात कर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे। पार्टी के वरिष्ठ नेता दोनों राष्ट्रीय स्तर के नेताओं को जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात के बारे में जानकारी देंगे। दोनों नेता पीसीसी (प्रदेश कांग्रेस कमेटी) एग्जीक्यूटिव के साथ बैठक करेंगे।

इसमें मौजूदा राजनीतिक विकास और पार्टी के रोड मैप पर रणनीति बनाई जाएगी। पार्टी शेड्यूल में दोनों नेताओं के साथ कई बैठकों का दौर होगा। मुख्य प्रवक्ता रवींद्र शर्मा के अनुसार दोनों नेताओं का फिलहाल जम्मू का दौरा है। इसके लिए तैयारी की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि केंद्र शासित बनने के बाद जम्मू-कश्मीर में गुलाम नबी आजाद ने दो बार आने की कोशिश की थी, लेकिन उन्हें सुरक्षा कारणों का तर्क देकर एयरपोर्ट से दिल्ली लौटा दिया गया था, जिसके बाद वह सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर जम्मू-कश्मीर के सीमित दौरे पर आए थे। इसमें आजाद ने आरोप लगाया था कि स्थानीय प्रशासन ने उन्हें सभी जगहों पर जाने की इजाजत नहीं दी।