बैक टू विलेज: अधिकारियों ने गांवों में डाला डेरा, गांवों की समस्याओं की बनाई जा रही हैं सूची

जम्मू-कश्मीर में पंचायती राज को मजबूत बनाने के उद्देश्य से बैक टू विलेज कार्यक्रम का आगाज हो गया। कई पंचायतों में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिसमें अधिकारियों ने सरपंचों और पंचों सहित ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। अधिकारियों ने इसकी रिपोर्ट तैयार की। इस रिपोर्ट के आधार पर पंचायतों के विकास के लिए योजनाएं बनाई जाएंगी।

पंचयात मरालिया में शिक्षा विभाग के निदेशक अनुराधा गुप्ता ने वहां मौजूद विभागीय अधिकारियों से पंचायत की दिक्कतों की जानकारी ली। इस दौरान पंचायत के सरपंच अंजूरानी सहित मौजूद पंचों ने बिजली, पानी, नहरी पानी, स्वच्छता व शिक्षा से जुडे़ मामलों की विस्तार से जानकारी मुहैया करवाई। वहीं पंचायत दरसोपुर में आयोजित कार्यक्रम में पंचायत टिंडेकला लोअर में कृषि विभाग के अधिकारी वीके मंसोत्रा की अध्यक्षता में सरपंच राजा सिंह सहित पंचायत के पंच व ग्रामीणों की मौजूदगी में लोगों की दिक्कतों के बारे में जानकारी प्राप्त की। पंचयात दरसोपुर में कृषि विभाग अधिकारी रघुवीर चंद की अध्यक्षता में बैक टू विलेज कार्यक्रम के अंतर्गत सरपंच दलीप कुमार व अन्या पंचो की मौजूदगी में पंचायत की भगौलिक स्थिति के बारे में जानकारी प्राप्त की।
वहीं मीरां साहिब ब्लाक के बग्गाजना, बन सुलतान लोअर, बन सुल्तान अपर, भाउ, गाजीपुर कुल्लिया, जिंदड, जिंदलेड, खारिया, खौड़, किरपिंड, कोटली मिया फत्ता, कोटली शाह दौला, मखनपुर गुजरा, मलिकपुर, महेशिया, निहालपुर सिंबल लोअर, निहालपुर अपर, फिंदड, टांडा, सुचेतगढ़ ब्लाक की पंचायत मग्गोवाली, निकोवाली प्रलाह, रंगपुर मौलाना, सइकला, सइकला खुर्द, सत्तोवाली, सुचेतगढ़, तलाड़, आरएस पुरा ब्लाक बडियाल ब्राह्मण लोअर, बडियाल ब्रह्मण अपर, बासपुर, चक्क आगरा, चक्क वाला, खानेचक्क-पूरोभाना, चंदू चक्क, चौहाला, दबलैड, फतेेहपुर ब्राह्मणा, गेगिया, गंडली, गोंदला, जस्सौर, कलयाणा, कोटली अर्जुन सिंह, केजी बाना, रंगपुर सिद्वडे, रठाना, शामका पंचायतों में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।