जम्मू कश्मीर में सुधरी बीजेपी की स्थिति, लोकसभा चुनावों में बढ़े इतने फीसदी वोट

 जम्मू-कश्मीर में तीन लोकसभा सीटों पर कब्जा करने वाली भाजपा ने 46.4 फीसदी वोट हासिल किए हैं, जो चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, कांग्रेस, नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी तीनों के कुल मत प्रतिशत से भी अधिक है. नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) ने कश्मीर क्षेत्र की तीन सीटें हासिल की, जिसे सिर्फ 7.89 फीसदी वोट मिले.

चुनाव आयोग के आंकड़ों पर एक नजर
भारतीय चुनाव आयोग द्वारा जारी अधिकारिक आंकड़े के मुताबिक राज्य की छह लोकसभा सीटों पर पड़े कुल 34,79,155 मतों में से भाजपा को 16,48,041 मत मिले, जो 46.4 प्रतिशत होता है. अधिकारियों ने कहा कि यह राज्य में भाजपा का अब तक का सबसे अधिक वोट शेयर है. आंकड़ों के मुताबिक, 2019 लोकसभा चुनावों में जम्मू, उधमपुर और लद्दाख सीटें जीतने वाली भाजपा ने जम्मू और लद्दाख क्षेत्र के इन तीन निर्वाचन क्षेत्रों के अंतर्गत आने वाले 27 विधानसभा क्षेत्रों पर दबदबा बना लिया है.

12 फीसदी वोटों की हुई बढ़ोतरी
2014 के लोकसभा चुनावों में भाजपा के 34.40 फीसदी वोट शेयर के मुकाबले 12 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. भाजपा ने 2014 के चुनावों में भी जम्मू, उधमपुर और लद्दाख सीटें हासिल की थी. 2014 के विधानसभा चुनावों में, भाजपा को 23 प्रतिशत वोट मिले थे. 2009 के लोकसभा चुनावों में भाजपा को केवल 18.61 प्रतिशत वोट मिले थे.

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने उधमपुर सीट से कांग्रेस के विक्रमादित्य सिंह को 3.57 लाख वोटों से हराया. विक्रमादित्य जम्मू-कश्मीर के अंतिम युवराज कर्ण सिंह के बेटे हैं. जितेंद्र सिंह को 7,24,311 यानि 61.38 फीसदी वोट मिले. चुनाव अधिकारियों के अनुसार, यह जम्मू-कश्मीर में अब तक के किसी भी सफल उम्मीदवार के लिए जीत का सबसे बड़ा अंतर है.

जम्मू सीट पर भाजपा के जुगल किशोर ने कांग्रेस के रमन भल्ला को 3,02,875 मतों से हराया. किशोर ने 8,58,066 वोट (58.02 फीसदी) हासिल किए. पार्टी के जे टी नामग्याल ने लद्दाख सीट जीती. उन्हें 42,914 (33.94 प्रतिशत) वोट मिले. आंकड़ों के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर में पांच सीटों पर चुनाव लड़ने वाली कांग्रेस अपना खाता खोलने में भी नाकाम रही, जिसे सभी सीटों पर मिलाकर कुल 1,011,527 (28.5 प्रतिशत) वोट मिले. नेशनल कांफ्रेंस ने श्रीनगर, अनंतनाग और बारामूला सीटों पर जीत हासिल की. नेकां को 2,80,356 (7.89 फीसदी) वोट मिले. नेकां के नेता फारूक अब्दुल्ला ने श्रीनगर सीट जीती और कुल 12,94,560 मतदाताओं में से उन्हें 1,06,750 के वोट मिले.

उत्तरी कश्मीर के बारामूला निर्वाचन क्षेत्र में, नेकां उम्मीदवार मोहम्मद अकबर लोन ने जीत दर्ज की, जिन्हें 1,33,426 वोट मिले. अनंतनाग सीट से जीतने वाले नेकां के उम्मीदवार हसनैन मसूदी ने 40,180 वोट हासिल किए. 2014 के लोकसभा चुनावों में, नेकां को 11.10 प्रतिशत वोट मिले थे, लेकिन कोई भी सीट पाने में असफल रही. 2009 में, नेकां को दो सीटों के साथ 19.11 प्रतिशत वोट मिले थे. पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) का मत प्रतिशत काफी गिरा है. 2014 में पार्टी का मत प्रतिशत 20.50 रहा था, जिसने तब तीन सीटें अपने नाम की थी. इस बार पीडीपी अपनी तीनों सीटें हार गई और पार्टी का मत प्रतिशत भी गिरकर सिर्फ 2.4 रह गया. पार्टी को महज 84,054 वोट मिले. वर्तमान नतीजों के बाद के आँकड़े के मुताबिक भाजपा राज्य के 27 विधानसभा क्षेत्रों में अपना दबदबा बनाए हुये है.