पुंछ में सीमा पर गोलाबारी में बीएसएफ इंस्पेक्टर शहीद, मासूम समेत तीन की मौत, 19 घायल

पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन कर नियंत्रण रेखा पर शाहपुर, कीरनी, कस्बा, मंधार, माल्टी, दिगवार और मनकोट सेक्टर में भारतीय सैन्य चोकियों व रिहायशी इलाकों पर भारी गोलाबारी की। इसमें एक बीएसएफ का इंस्पेक्टर शहीद हो गया, एक बच्ची और एक महिला की मौत हो गई।

इसके अलावा पांच सुरक्षाबलों के जवान और 14 ग्रामीणों सहित 19 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। गोलाबारी के चलते जिससे नियंत्रण रेखा के आसपास के क्षेत्रों में दहशत का माहौल है। जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान की तीन चौकियां तबाह हो गई हैं।

जानकारी के अनुसार पाकिस्तानी सेना ने सोमवार सुबह सात बजे जिले के शाहपुर, कीरनी, मंधार, इस्लामाबाद व गूंतरियां आदि क्षेत्रों को निशाना बना कर भारी गोलाबारी शुरू कर दी। इसका भारतीय जवानों ने मुंहतोड़ जवाब दिया। गोलाबारी के दोरान सबसे पहले कीरनी में एक ग्रामीण घायल हो गया, जिसे पुंछ अस्पताल पहुंचाया गया।

दोपहर एक बजे के बाद पाकिस्तानी सेना ने मनकोट, दिगवार और माल्टी में भी रिहायशी इलाकों को निशाना बनाना शुरू कर दिया गया। मेंढर सब डिवीजन के मनकोट में बीएसएफ के पांच और सेना का एक जवान घायल हो गया, जिन्हें एयर लिफ्ट कर सैन्य कमान अस्पताल उधमपुर भेजा गया। जहां जख्मों का ताव न सहते हुए बीएसएफ के एक इंस्पेक्टर टीएल एक्स ललमिनलुल शहीद हो गया। वहीं, कीरनी सेक्टर के बांड़ी चेचियां गांव में गोला गिरने से एक छह वर्षीय बच्ची सोबिया शफीक पुत्री मोहम्मद शफीक की मौके पर ही मोत हो गई।

इसके अलावा 14 ग्रामीण गंभीर रूप से घायल हो गए, जिनमें से तीन को एयर लिफ्ट कर जीएमसी जम्मू रेफर किया गया है। पाकिस्तानी सेना ने गूंतरियां गांव स्थित साई मीरा बख्श की जियारत को निशाना बना कर दर्जनों गोले दागे। शाहपुर में कई घरों को नुकसान पहुंचा है। गोलाबारी के चलते स्कूलों में छुटटी कर दी गई।