उधमपुर में फंसे हुए प्रवासी कामगारों के लिए सामुदायिक रसोई

कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देश भर में लगाए गए लॉकडाउन के बीच जम्मू-कश्मीर के उधमपुर शहर में तीन सामुदायिक रसोई हर दिन 7,000 से अधिक भोजन पैकेटों को तैयार कर उन्हें विभिन्न स्थानों पर फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों के बीच वितरित कर रही है। जिला के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘इन सामुदायिक रसोई में, भोजन पकाया जाता है, पैक किया जाता है और जिले के विभिन्न स्थानों पर जरूरतमंदों के बीच वितरित किया जाता है। इस पहल में व्यापक रूप से लोगों की भागीदारी है और अब तक, एक लाख से अधिक भोजन पैकेट जरूरतमंद व्यक्तियों को उपलब्ध कराया गया है।’’ उन्होंने कहा कि उधमपुर शहर में रोजाना 7,000 से अधिक खाद्य पैकेट तैयार किए जाते हैं जरूरतमंदों के बीच वितरित किए जाते हैं। उन्होंने कहा कि जरूरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराने के मकसद से सामुदायिक रसोई को विभिन्न क्षेत्रों में स्थापित किया गया है। इनके प्रबंधन के लिए प्रशासन ने विशेष व्यवस्था किया है और देखरेख के लिए अधिकारियों को नियुक्त किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘लोग भोजन के लिए फोन नंबर पर संपर्क करते हैं और भोजन के पैकेट उन तक पहुंचा दिए जाते हैं।’’