पंचायतों में स्थापित होंगे शिकायत बॉक्स, समाधान और समय दोनों की होगी निगरानीः उपराज्यपाल मुर्मू

जम्मू-कश्मीर की प्रत्येक पंचायत में जन समस्याओं के निदान के लिए शिकायत बाक्स स्थापित किए जाएंगे। शिकायतों के समाधान और विशेष रूप से समाधान के लिए लगने वाले समय पर कड़ाई से निगरानी की जाएगी। जम्मू-कश्मीर लोक शिकायत प्रकोष्ठ के अवाज-ए-आवाम पोर्टल में सलाहकारों द्वारा सार्वजनिक आउटरीच बैठकों के दौरान प्राप्त शिकायतों को दर्ज करने और निगरानी के लिए एक तंत्र शामिल होगा। उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई पहली प्रशासनिक परिषद की बैठक में यह दिशा निर्देश जारी किए गए।परिषद को सूचित किया गया था कि शिकायतें डाक सहित विभिन्न माध्यमों से प्राप्त की जा रही हैं, जो शिकायतकर्ता द्वारा व्यक्तिगत रूप से उपराज्यपाल की शिकायत सेल में भी लाई जा सकती हैं। उपराज्यपाल के सलाहकारों द्वारा सप्ताह में दो बार सार्वजनिक पहुंच दरबार आयोजित किए जा रहे हैं, जहां लोगों को अपनी शिकायतें रखने का मौका दिया जाता है।

उपायुक्त तहसील और ब्लॉक स्तरों पर साप्ताहिक सार्वजनिक बैठकें आयोजित कर रहे हैं। शिकायत प्रकोष्ठ के कामकाज की समीक्षा करते हुए उपराज्यपाल ने निर्देश दिया कि वास्तविक समय के आधार पर शिकायतों के निपटान की निगरानी के लिए पोर्टल पर एक डैशबोर्ड तैयार किया जाए।