कोरोना वायरस: जम्मू में दूध की मांग में आई 90% कमी, मिल्क पाउडर इस्तेमाल कर रहे लोग

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जम्मू में लॉकडाउन का एलान किया गया है. वहीं आम लोगों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए 16 चीजों को आवश्यक चीजें घोषित कर दिया है. जिसमें दूध भी शामिल है. वहीं कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते जम्मू में दूध की मांग में 90 प्रतिशत की कमी आई है.

जम्मू में एक बड़े डेयरी मालिक सत पॉल अब्रोल की माने तो कोरोना वायरस और लॉकडाउन के चलते दूध की मांग में 90 प्रतिशत की कमी आयी है.उनके मुताबिक इस समय डेयरी मालिक दूध, दही और पनीर ही बेच रहे हैं ताकि आम लोगों की जरूरतों को पूरा किया जाए.

उनकी माने तो इन दिनों दूध की मांग में भी कमी आयी है और सोशल डिस्टन्सिंग के चलते लोग इन दिनों घरों में मिल्क पाउडर का इस्तेमाल कर रहे हैं. उनके मुताबिक दूध की खपत में इतनी कमी इसलिए आयी है क्योंकि पिछले कुछ दिनों से मिठाई की दुकानों को बंद कर दिया गया है.

जम्मू में दूध की खपत के एक हिस्से का इस्तेमाल मिठाईयां बनाने में होता है लेकिन जब से मिठाई की दुकानों को बंद कर दिया गया है तब से जम्मू में दूध सरप्लस हो रहा है.उन्होंने यह भी दावा किया कि इन दिनों जम्मू में दूध का इस्तेमाल सिर्फ दही और पनीर बनाने में होता है और बाकी सारा दूध बच रहा है.

सत पॉल अब्रोल ने यह भी दावा किया कि इन दिनों जम्मू में दूध की खपत इस लिए भी कम हुई है क्योंकि लोग घरों से बाहर निकलने में परहेज कर रहे हैं. लोग कोरोना वायरस को लेकर काफी एहतियात बरत रहे हैं.जम्मू में काफी घरों में इन दिनों पैक्ड दूध और मिल्क पाउडर का इस्तेमाल किया जा रहा है ताकि रोजाना बाहर जाकर दूध ना लाना पड़े.