जम्मू समेत पांच जिलों में गहरा सकता है पेयजल संकट, वेतन न मिलने से खफा 1500 कर्मी

जम्मू संभाग के पांच जिलों जम्मू, रामबन, डोडा, राजोरी और सांबा में पेयजल संकट गहरा सकता है। जलशक्ति विभाग के करीब 1500 डेली वेजर्स ने नौ माह से वेतन न मिलने के विरोध में हड़ताल का एलान किया है। इन वर्करों का आरोप है कि विभाग की ओर से 12 वाउचर की शर्त थोपकर हजारों वर्करों को वेतन से वंचित रखा जा रहा है।
पीएचई कर्मचारियों की हड़ताल पीएचई, आईटीआई, सीपी वर्कर एंड लैंड डोनर एसोसिएशन के आह्वान पर हो रही है। एसोसिएशन के अध्यक्ष तनवीर हुसैन ने कहा कि कर्मचारियेें को बिना वेतन सेवाएं देने में परेशानी आ रही है। विभाग ने अब 12 वाउचर यानी 12 माह वेतन लेने वालों को ही वेतन जारी करने की शर्त रखी है, जबकि 1500 ऐसे वर्कर हैं जिन्हें कुछ महीने ही वेतन मिल पाया है।
इस श्रेणी के वर्करों को विभाग वेतन देने में आनाकानी कर रहा है। लॉकडाउन के बावजूद वेतन न देने के अन्याय के खिलाफ वह हड़ताल पर जाने को मजबूर हो गए हैं। तनवीर हुसैन ने कहा कि इस मामले को विभागीय उच्चाधिकारियों के संज्ञान में लाया गया था लेकिन सुनवाई नहीं की गई है।