सरकार ने राज्यसभा में कहा, ‘जनवरी में देश की सीमाओं में हुई घुसपैठ की 27 घटनाएं’

सरकार ने बुधवार को बताया कि पिछले चार साल के दौरान देश की सीमाओं पर घुसपैठ की घटनाओं में लगातारी कमी आयी है और इस साल ऐसी 27 घटनाएं हुई हैं.

गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि 2015 में सीमाओं पर घुसपैठ की 1098 घटनाएं हुई जो 2016 में घटकर 885 हो गईं. उन्होंने बताया कि 2017 में सीमाओं पर घुसपैठ की 629 और 2018 में 574 घटनाएं हुयीं. इस साल 24 जनवरी तक घुसपैठ की 27 घटनाएं हुयी हैं.

उन्होंने कहा कि सरकार ने सीमा प्रबंधन में सुधार के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल के लिए विभिन्न क्षेत्रों की पहचान की है. इसके साथ ही परियोजना को कार्यान्वित करने के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) और गृह मंत्रालय के समन्वय से लघु, मध्यम और दीर्घकालिक योजना को अनुमोदित किया गया है.

अर्धसैनिक बलों में खाली हैं 84 हजार पद
वहीं सरकार ने बुधवार को बताया कि विभिन्न अर्धसैनिक बलों में 84,037 पद रिक्त हैं और इनमें सबसे ज्यादा 22,980 रिक्तियां केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) में हैं. गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि सीमा सुरक्षा बल में 21,465 पद रिक्त हैं जबकि सशस्त्र सीमा बल में 18,102 रिक्तियां हैं. केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल में यह संख्या 10,415 है जबकि भारत-तिब्बत सीमा पुलिस में 6,643 और असम राइफल्स में 4,432 रिक्तियां हैं.

उन्होंने कहा कि खाली पदों का भरा जाना एक सतत प्रक्रिया है और भर्ती वर्ष 2018 के लिए कर्मचारी चयन आयोग को कांस्टेबल पद के लिए 54,953 तथा सब-इंस्पेक्टर पद के लिए 1073 रिक्तियों का मांग पत्र भेजा गया है. इसके अलावा सहायक कमांडेंट पद के संबध में 466 रिक्तियों की सूचना संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) को दी गयी है.