जम्मू कश्मीर के राज्यपाल ने अमरनाथ यात्रा मार्ग का हवाई सर्वेक्षण किया

जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने रविवार को अमरनाथ यात्रा मार्ग का हवाई सर्वेक्षण किया और वहां बर्फ के मौजूदा स्तर का जायजा लिया। एक अधिकारी ने बताया कि मलिक के साथ उनके सलाहकार के विजय कुमार तथा मुख्य सचिव बी वी आर सुब्रमण्यम भी थे। राज्यपाल ने बालटाल-डोमेल-संगम-पंचतरणी-शेषनाग-चंदनवाड़ी-पहलगाम से होते हुए पूरे अमरनाथ यात्रा मार्ग का हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने कहा कि मलिक ने बर्फ हटाने और रास्तों को साफ करने के कार्यों की रफ्तार पर संतोष प्रकट किया। प्रवक्ता के अनुसार राज्यपाल ने संबंधित अधिकारियों से यह सुनिश्चित करने को कहा कि सड़कों को साफ किया जाए और उनकी मरम्मत की जाए तथा यात्रा सुगमता से संपन्न कराने के लिए जरूरी सभी सुविधाएं एक जुलाई को इसके शुरू होने से पहले पूरी कर ली जाएं। यात्रा की सुरक्षा के संबंध में अधिकारियों ने कहा कि जम्मू क्षेत्र में जहां तीर्थयात्री पहुंचेंगे, वहां और आसपास के क्षेत्रों में बहुस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाने के तहत पुलिस त्वरित प्रतिक्रिया दल (क्यूआरटी) और रोड-ओपनिंग पार्टी (आरओपी) तैनात की जाएंगी। 46 दिन तक चलने वाली अमरनाथ यात्रा एक जुलाई से शुरू होगी और अनंतनाग जिले में परंपरागत पहलगाम तथा गांदेरबल जिले के बालटाल मार्ग से होगी। जम्मू जोन के पुलिस महानिरीक्षक एम के सिन्हा ने शनिवार को अमरनाथ यात्रा की व्यवस्थाओं का जायजा लिया।