जम्मू-कश्मीर: आतंकवाद पर सत्यपाल मलिक बोले- सामने से गोलियां चलेंगी तो गुलदस्ता नहीं देंगे

जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लगा हुआ है। यहां पर हिंसक गतिविधियों को लेकर गवर्नर सत्यपाल मलिक ने शनिवार को यह साफ कर दिया कि यदि सामने से फायरिंग की जा रही होगी तो उन्हें गुलदस्ता नहीं दिया जा सकता है। गोलियों का जवाब गोलियों से ही दिया जाएगा।

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा, ‘शुक्रवार को नमाज के बाद की जाने वाली पत्थरबाजी तकरीबन रुक चुकी है। हम युवाओं की मुख्यधारा में वापसी चाहते हैं। उसके लिए योजनाओं पर विचार किया जा रहा है। लेकिन एक बात यह भी सत्य है कि यदि सामने से फायरिंग की जा रही है तो आप उन्हें गुलदस्ता नहीं थमा सकते हैं। जनरल साहब गोलियों का जवाब गोलियों से ही देंगे।’ उन्होंने कहा, ‘हमें नेक इरादों के साथ काम करना चाहिए।’

‘नशा एक बड़ा खतरा है’
सत्यपाल मलिक ने कहा, ‘मुझे इस बात की खुशी है कि मीरवाइज उमर फारूक ने ड्रग के खिलाफ आवाज उठाई है, यह एक बड़ा खतरा है। यह यहां पर युवाओं के बीच फैल रहा है। जम्मू में स्थिति बुरी है, पंजाब इसकी वजह से खत्म हो रहा है।’ बता दें कि उरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास बड़ी संख्या में हथियारबंद आतंकियों का पता लगाया गया है। इतना ही नहीं, एक बड़ी सफलता हासिल करते हुए एक आतंकी को सुरक्षा बलों ने बानियार इलाके में मार गिराया। यहां शनिवार सुबह मुठभेड़ हुई थी।