एक सेमेस्टर मुंबई जाकर पढ़ेंगे आईआईटी जम्मू के छात्र

आईआईटी जम्मू के छात्र एक सेमेस्टर मुंबई जाकर पढ़ सकेंगे। यह सुविधा उन्हें एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत मिल सकेगी। दरअसल, पिछले महीने आईआईटी जम्मू और मुंबई के बीच एक एमओयू हुआ है, जिसके तहत दोनों संस्थान एक दूसरे को रिसर्च और अन्य एक्टिविटी में सहयोग करेंगे। दोनों ही संस्थानों से दो-दो छात्र हर साल इस प्रोग्राम के लिए चुने जाएंगे। यूजी फाइनल या प्री-फाइनल ईयर के छात्र को यह सुविधा मिल सकेगी। इन्हें विजिटिंग रिसर्च स्कालर नाम से जाना जाएगा।

आईआईटी जम्मू के डायरेक्टर प्रो. मनोज सिंह धर और आईआईटी मुंबई के डायरेक्टर प्रो. देवांग खाखड़ ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं। यूं तो समझौता तीन साल बाद स्वत: समाप्त हो जाएगा, लेकिन अगर संस्थान इसे बाद में भी लागू करना चाहें तो पांच साल बाद इसका रिव्यू किया जाएगा। यह भी प्रावधान किया गया है कि छह माह पहले लिखित में नोटिस देकर कोई भी संस्थान इस एमओयू को समाप्त कर सकेगा। एक्सचेंज प्रोग्राम में शामिल छात्रों को आवश्यक रूप से हेल्थ इंश्योरेंस लेने की भी बाध्यता रखी गई है।

इस तरह होगा एक्सचेंज
आईआईटी जम्मू चार माह पहले चुने गए छात्रों के नाम आईआईटी मुंबई को भेजेगा, जिसके बाद आईआईटी मुंबई एक स्वीकृति पत्र आईआईटी जम्मू को प्रेषित करेगा। उसे प्रोग्राम शुरू होने से दो माह पहले तक यह करना जरूरी होगा। इसी तरह आईआईटी मुंबई से आने वाले छात्रों के नाम जम्मू को भेजे जाएंगे और यहां से स्वीकृति पत्र मुंबई जाएगा। छात्रों की रहने की व्यवस्था आन कैंपस की जाएगी।