जम्मू-कश्मीरः महिला पार्षदों से दुर्व्यवहार पर फंसे संयुक्त आयुक्त, अधिकारियों में मचा घमासान

जम्मू नगर निगम में संयुक्त आयुक्त द्वारा महिला पार्षदों से दुर्व्यवहार का मामला गरमा गया है। भाजपा पार्षदों की बैठक में संयुक्त आयुक्त को अटैच करने की मांग के बाद मेयर ने आदेश जारी कर आयुक्त के पास भेज दिया। हालांकि आयुक्त मामले को लेकर अभी पल्ला झाड़ रहे हैं। उनका कहना है कि उन्हें इस तरह कोई आदेश नहीं मिला है। आदेश नगर निगम एक्ट 2000 के तहत दिया गया है। इसमें प्रावधान है कि मेयर नगर निगम के स्टाफ के खिलाफ नियमों की अवहेलना पर कार्रवाई कर सकते हैं।गौरतलब है कि बीते सप्ताह पार्षद नीना गुप्ता और शारदा देवी ने संयुक्त आयुक्त आशीष गुप्ता द्वारा दुर्व्यवहार करने के आरोप लगाए थे। मामले में संयुक्त आयुक्त ने भी पार्षदों द्वारा मनमानी करने और डराने के आरोप लगाए थे। इसके बाद से भाजपा पार्षदों में रोष था। इसको लेकर पार्टी कार्यालय में वरिष्ठ नेताओं की अध्यक्षता में बैठक भी हुई, जिसमें पार्षदों ने एकमत से संयुक्त आयुक्त को अटैच करने की मांग रखी। इस पर मेयर कार्यालय से संयुक्त आयुक्त को अटैच करने का आदेश जारी किया गया। हालांकि अभी नगर निगम के आयुक्त आदेश न मिलने की बात कर रहे हैं।

पार्षदों का कहना है कि आदेश के बाद तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए। संयुक्त आयुक्त से शक्तियां वापस ली जानी चाहिए। वहीं, मेयर कार्यालय के सूत्रों के अनुसार आर्डर ड्राफ्ट करने के बाद मेयर ने साइन कर आदेश आयुक्त को भेजा है।