जम्मू-कश्मीरः इन 16 जिलों में चार मई से शुरू हो सकेगी सीमित आवाजाही, जानिए किस जोन में है आप

केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के ऑरेंज और ग्रीन जोन के रूप में चिह्नित 16 जिलों में चार मई से सीमित आवाजाही शुरू होगी। इन जिलों में टैक्सी, कैब और निजी कारें चल सकेंगी, लेकिन ड्राइवर समेत तीन सवारियां ही होंगी। जिलों में व जिले से बाहर बसें नहीं चलेंगी। अनुमति लेकर कुछ कामकाज भी शुरू किए जा सकते हैं।
प्रदेश के चार जिलों को ग्रीन जोन में शामिल किया गया है। इसमें जम्मू संभाग के तीन किश्तवाड़, डोडा और पुंछ व घाटी का पुलवामा जिला शामिल है। इन जिलों में सैलून खुलेंगे और जरूरी सेवाएं और वस्तुएं भी मिलेंगी। बसों का संचालन भी होगा, लेकिन बस में 50 फीसदी यात्री ही रहेंगे। बस डिपो में 50 प्रतिशत कर्मचारियों की मौजूदगी होगी। रेड जोन के रूप में चिह्नित चार जिलों में वाहनों की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी। सैलून भी नहीं खुलेंगे।

  • ग्रीन जोन: पुलवामा, किश्तवाड़, डोडा और पुंछ। इन जिलों में गाइडलाइन का पालन करते हुए सामान्य तौर पर गतिविधियां हो सकेंगी।
  • रेड जोन: बांदीपोरा, शोपियां, अनंतनाग और श्रीनगर। यहां पूरी तरह से पाबंदियां लागू रहेंगी।
  • ऑरेंज जोन: इसमें प्रदेश के 12 जिले जम्मू, उधमपुर, सांबा, कठुआ, राजोरी, रामबन, रियासी बारामुला, कुपवाड़ा, गांदरबल, कुलगाम, बड़गाम शामिल हैं। 

रेड जोन में अब भी 263 मरीज

रेड जोन में चिह्नित चार जिलों में अब भी कोरोना के 263 मरीज हैं। रेड जोन में श्रीनगर में 91 संक्रमित मामलों में से 20 सक्रिय हैं, जबकि 69 रिकवर हो चुके हैं। यहां दो लोगों की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हुई है। इसी तरह बांदीपोरा में 128 संक्रमित मामलों में से 92 सक्रिय हैं। यहां 35 मरीज स्वस्थ हुए हैं और एक की मौत हुई है।

शोपियां में 74 संक्रमति मामलों में से 57 सक्रिय हैं और 17 स्वस्थ हो चुके है। इसके अलावा अनंतनाग में 95 संक्रमित मामलों में से 94 सक्रिय हैं और यहां एक पीड़ित की मौत हुई है। ग्रीन जोन में पुलवामा में 7 संक्रमित मामलों में से तीन सक्रिय हैं। किश्तवाड़ में एक संक्रमित स्वस्थ हो चुका है। डोडा और पुंछ जिले में कोई मामला नहीं आया है।