किश्तवाड़ में हिजबुल आतंकी की मदद करने के लिए 10 लोगों पर मुकदमा

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शनिवार को हिज्बुल मुजाहिदीन के शीर्ष आतंकवादी मोहम्मद अमीन उर्फ जहांगीर सरूरी की मदद करने वाले के लिए 10 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सरोसी पिछले तीन दशकों से किश्तवाड़ जिले में सक्रिय है। किश्तवाड़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरमीत सिंह मेहता ने कहा, ‘‘हमने 10 ऐसे लोगों की पहचान की है, जो हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादी जहांगीर सरोरी को सहायता प्रदान कर रहे हैं और उनके खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।’’

उन्होंने कहा कि दचान पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज की गई है और आरोपियों को पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं। अधिकारी ने बताया कि वे कथित रूप से आतंकवादियों को आवागमन और वित्तीय सहायता मुहैया करा रहे थे, और आतंकियों के प्रतिनिधि के रूप में काम कर रहे थे। सरूरी 1990 के दशक में हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ था, वह कभी गिरफ्तार नहीं हुआ और किश्तवाड़ के जंगलों में छिपा हुआ है। किश्तवाड़ में 2018 में आतंकवाद का प्रभाव बढ़ने के पीछे सरोरी का दिमाग माना गया। इसके पहले जिले को आतंक मुक्त घोषित कर दिया गया था।