LoC पर पुंछ में पाकिस्तानी फायरिंग जारी, गांव और दुकानों को बनाया निशाना

पाकिस्तान ने शनिवार को नियंत्रण रेखा के नजदीक पुंछ में सीजफायर का उल्लंघन किया. बिना किसी कारण की गई इस फायरिंग का भारतीय सेना ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया.

शुक्रवार को भी भारतीय सेना के अग्रिम पोस्ट पर पाकिस्तानी सेना ने मोर्टार दागे. सैन्य ठिकानों के अलावा पुंछ के ग्रामीण इलाकों में गोलाबारी की गई. हालांकि अकारण की गई इस फायरिंग में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

भारतीय सेना के मुताबिक, साल 2018 के अक्टूबर तक पाकिस्तानी सेना ने 1600 बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है. पुंछ जिले में पिछले कई दिन से पाकिस्तान की ओर से फायरिंग जारी है. गुरुवार को गुलपुर और खारी करमारा इलाके में दो बार गोलाबारी की गई जहां कुछ दुकानों, घर और गोशाला को निशाना बनाया गया.

भारत ने 2003 की संघर्ष विराम संधि का हवाला देते हुए पाकिस्तान को इस बाबत चेतावनी दी है लेकिन फायरिंग में कोई कमी नहीं देखी जा रही. हर दिन नियंत्रण रेखा से सटी नई नई जगहों पर पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी की खबरें आ रही हैं.

दूसरी ओर, पाकिस्तान समुद्री सुरक्षा एजेंसी (पीएमएसए) ने गुरुवार देर रात गुजरात तट से पांच भारतीय मछुआरों को पकड़ लिया और उनकी एक नौका भी जब्त कर ली. गुजरात के नेशनल फिशवर्कर्स फोरम (एनएफएफ) के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. पीएमएसए पाकिस्तानी नौसेना की एक टुकड़ी है. यह एजेंसी भारतीय मछुआरों को उनके देश की समुद्री सीमा को पार करने के आरोप में पकड़ लेती है.

एनएफएफ के सचिव मनीष लोधारी ने पीटीआई को बताया कि कुछ दिन पहले पांच मछुआरे अपनी नौका लेकर गुजरात के पोरबंदर से समुद्र में गए थे. उन्होंने बताया कि अरब सागर में अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा के नजदीक पीएमएसए ने मछुआरों को पकड़ लिया.