नए जम्मू-कश्मीर में फरवरी-मार्च तक होंगे पंचों-सरपंचों की खाली सीटों पर पंचायत चुनाव

नए जम्मू-कश्मीर में पहला चुनाव पंचायतों में पंचों और सरपंचों की खाली पड़ी सीटों पर होगा। खाली सीटों पर पर चुनाव के लिए प्रशासन ने हरी झंडी दे दी है। सब कुछ ठीक रहा तो बर्फबारी खत्म होने के बाद फरवरी-मार्च में  इन सीटों पर चुनाव कराए जा सकते हैं। चुनावों के लिए मतदाता सूची के पुनरीक्षण का काम शुरू कर दिया गया है।  दस साल बाद नवंबर, 2018 में हुए पंचायत चुनाव में 40 हजार पंच-सरपंच पदों के लिए मतदान हुआ था। इसके बावजूद 12,776 पद रिक्त रह गए थे। इन सीटों पर किसी ने चुनाव नहीं लड़ा था। पोस्टर लगाकर मतदाताओं को आतंकियों के धमकी देने, नेकां-पीडीपी के बहिष्कार और अलगाववादियों द्वारा चुनाव में हिस्सा न लेने के लिए उकसाने के कारण कश्मीर घाटी के ज्यादातर जिलों में यह स्थिति सामने आई। अकेले कश्मीर में 12,565 सीटें खाली हैं। जम्मू संभाग में 166 और लद्दाख में 45 पंच-सरपंचों के पद रिक्त रह गए थे।

मुख्य चुनाव अधिकारी कार्यालय से जुड़े सूत्रों ने बताया कि पंचायतों की मतदाता सूची के पुनरीक्षण का काम पूरा होते ही रिक्त पदों के चुनाव की अधिसूचना जारी की जा सकती है। मतदान केंद्र चिह्नित करने को कहा गया है। जरूरी सुरक्षा इंतजाम और अन्य आवश्यकताओं को सूचीबद्ध करने के निर्देश भी दिए गए हैं।