एफसीएसएंडसीए जम्मू राशन की 100 प्रतिषत होम डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए 24 घंटे काम कर रहा है

निदेशक खाद्य नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले जेतिंद्र सिंह ने आज कहा कि विभाग के अधिकारी, उचित मूल्य दुकान, डीलर, मजदूर और अन्य श्रमिक लॉकडाउन की अवधि के दौरान जम्मू के सभी घरों में राशन का 100 प्रतिशत वितरण सुनिष्चिित करने के लिए 24 घंटे काम कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि एफसीएसएंडसीए जम्मू के समर्पित आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठों/आपातकालीन प्रतिक्रिया प्रकोष्ठ का गठन निदेशालय स्तर पर किया गया है और जम्मू संभाग के सभी जिलों में संबंधित सहायक निदेशकों द्वारा अधिकारियों/कर्मचारियों के मोबाइल नंबरों को चैबीसों घंटे खाद्यान्न की उपलब्धता से संबंधित सहायता के लिए साझा किया गया है। अब तक हेल्पलाइन नंबरों को निदेशालय और जिला स्तर की सेल में लगभग 1120 कॉल मिली हैं।
निदेशक ने कहा कि अप्रैल और मई, 2020 के लिए अग्रिम दो महीने के राशन का वितरण युद्धस्तर पर शुरू किया गया है, ताकि हर लाभार्थी को निर्धारित समय सीमा के भीतर राशन मिल सके। उन्होंने कहा कि जम्मू संभाग के सभी जिलों में सोमवार तक यानि छह दिनों के भीतर 27.9 प्रतिषत लाभार्थियों के बीच राशन का वितरण पूरा कर लिया गया है।
निदेशक ने कहा कि इसके अलावा 1500 क्विंटल चावल और 1500 क्विंटल आट्ा रेड क्रॉस सोसाइटी, जम्मू के पास मंडलायुक्त जम्मू के दिषानिर्देषों पर उपायुक्त, जम्मू द्वारा बनाई गई एक समिति के माध्यम से वितरण के लिए रखा गया है।
कोविड-19 को रोकने के लिए बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में, निदेशक ने कहा कि विभाग ने विभिन्न सरकारी विभागों/निगमों के बीच आगे के वितरण के लिए मास्क और हैंड सैनिटाइजर खरीदे हैं।
उन्होंने कहा कि सहायक निदेशक रैंक के समर्पित अधिकारियों को वेयर हाउस, रिटेलर्स एसोसिएशन, फार्मास्युटिकल एसोसिएशन, फ्रूट एंड वेजिटेबल्स एसोसिएशन, ट्रांसपोर्टर्स, मिल्क एंड मिल्क प्रोडक्ट्स एसोसिएशन, एलपीजी और पेट्रोलियम उत्पादों की कंपनियों से समन्वय करने और दैनिक रिपोर्ट लेने के लिए नामित किया गया है ताकि आपूर्ति को बनाए रखा जा सके। उन्होंने कहा कि खाद्यान्न के ट्रकों/परिवहन के मुद्दों के निवारण के लिए एसआरटीसी और एफसीएसएंडसीए विभाग के अधिकारियों के एक संयुक्त समूह का गठन किया गया है।