जितेंद्र सिंह ने कहा, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में लागू होंगे सभी केंद्रीय कानून

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में सभी केंद्रीय कानूनों को लागू करने के लिए प्रतिबद्ध है। जम्मू-कश्मीर में अनुच्‍छेद 370 के निरस्तीकरण के बाद ज्वालामुखी फटने और भूकंप आ जाने की भविष्यवाणी करने वाले सभी लोग चुप हैं।
लोगों से केंद्रीय कानूनों को लागू करने में सरकार के साथ सहयोग करने का आग्रह करते हुए जितेंद्र सिंह ने कहा कि वे बिल्कुल आश्वस्त रहें कि सभी केंद्रीय कानून ‘नागरिक हितैषी’ हैं । इसका मकसद ‘कतार में खड़े अंतिम व्यक्ति तक लाभ पहुंचाना’ और ‘समाज के निचले तबके को निहित स्वार्थों के शोषण से मुक्त कराना’ है।

सिंह ने यहां दो दिवसीय क्षेत्रीय सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए कहा, ‘हम में से हर एक को यह समझ लेना चाहिए कि अनुच्छेद 370 हट गया है और हमेशा के लिए हट गया है। यह वापस नहीं आने वाला है। यहां तक कि ज्वालामुखी के विस्फोट और भूकंप आ जाने की बात करने वाले भविष्यवक्ता भी चुप हो गए हैं।’ तमिलनाडु और केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर की सरकारों के सहयोग से प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग द्वारा ‘जलशक्ति’ और आपदा प्रबंधन पर केंद्रित सम्मेलन ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ का आयोजन किया गया।