चार दिन बाद खुला जम्मू कश्मीर नेशनल हाइवे

भारी बारिश के कारण बीते पांच दिनों से बंद जम्मू.श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को शुक्रवार को यातायात के लिए खोल दिया गया। घाटी में भारी बर्फबारी और कई जगहों पर भूस्खलन होने के कारण राजमार्ग पर हजारों वाहन फंस गए थे। कश्मीर घाटी को हर मौसम में देश के बाकी हिस्सों से जोडऩे वाली यह सड़क जवाहर सुरंग के आसपास हिमपात तथा बारिश और बर्फबारी के कारण बनिहाल रामबन खंड पर कई स्थानों पर भूस्खलन होने के बाद सोमवार को बंद कर दी गई थी। इस राजमार्ग पर श्रीनगर से जम्मू के लिए एकतरफा यातायात की इजाजत दी गई है।जम्मू से फिलहाल वाहनों को इस मार्ग पर नहीं जाने दिया जाएगा। पुलिस ने बताया कि जम्मू के फंसे वाहनों को श्रीनगर जाने की अनुमति दे दी गई, इसके बाद श्रीनगर आने वाले वाहनों को अनुमति दी गई। पुलिस ने बताया कि राजमार्ग पर फंसे वाहनों में 85 हल्के मोटर वाहन, 3000 ट्रक और अन्य भारी वाहन शामिल थे। जवाहर सुरंग और निचले मुंडा के बीच कुछ स्थानों पर फंसे, सामान से लदे हुए ट्रकों को भी जम्मू जाने दिया गया है। सबसे पहले हल्के मोटर वाहनों को जाने की अनुमति दी गई और उसके बाद ट्रक और भारी वाहनों को। राजमार्ग पर यातायात पुन: शुरू कराने से पहले पुलिस की प्राथमिकता राजमार्ग पर पहले से फंसे वाहनों की भीड़ को खत्म करना था।लगातार बारिश के कारण इस साल राजमार्ग को कई बार बंद करना पड़ा। सबसे ज्यादा प्रभावित इलाका जम्मू से 150 किलोमीटर दूर डिग्डोल रहा। आपको बता दें कि जम्मू.श्रीनगर राजमार्ग ही एक मात्रा वह रास्ता है, जो कश्मीर को पूरे देश से जोड़ता है। राजमार्ग के बंद होने के कारण आवश्यक सामानों की आपूर्ति न होने से घाटी के लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ा।