जम्मू कश्मीर के राजौरी में लड़की की लज्जा भंग के प्रयास में तीन लोगों को सजा

जम्मू कश्मीर के सीमावर्ती जिले राजौरी में एक अदालत ने तीन लोगों को घर में घुसकर लड़की के अपहरण और उसकी लज्जा भंग करने के प्रयास के मामले में छह साल की कैद और 23 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई। पुलिस ने बताया कि यह मामला नौ साल पुराना है। पुलिस ने मामले के लोक अभियोजक को उद्धृत करते हुए बताया कि राजौरी के नौशेरा में चौकी हंडन गांव में 2010 में एक और दो नवंबर की दरमियानी रात अमित कुमार, अजय कुमार और संजीव कुमार ‘गलत इरादे’ से लड़की के घर में घुसे लेकिन लड़की के परिजनों के शोर मचाने के बाद वे भाग गए। तीनों आरोपी धनाका गांव के रहने वाले थे। उन्होंने कहा कि राजौरी के प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत में 29 नवंबर 2011 को मुकदमे की सुनवाई शुरू हुई और अभियोजन की तरफ से 12 गवाहों को पेश किया गया। उन्होंने कहा कि सुनवाई पूरी करने के बाद प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश जफर हुसैन बेग ने तीनों आरोपियों को दोषी करार देते हुए सजा सुनाई। सजा के बाद तीनों को जम्मू केंद्रीय कारागार भेज दिया गया।