जम्मू-कश्मीर की जेलों में बंद अंडर ट्रायल कैदियों की वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी पेशी

जम्मू-कश्मीर में पेशी के दौरान कोर्ट ले जाते समय किसी खूंखार आतंकी को हमला कर छुड़ाने और किसी खूंखार अपराधी के कोर्ट में अपने गुर्गों से मिलने जैसी घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए जेल विभाग ने बड़ी तैयारी की है। रियासत की जेलों में बंद कैदियों की रिमांड और अंडर ट्रायल कैदियों की पेशी वीडियो कांफ्रेंसिंग से करने की तैयारी शुरू कर दी गई है। हालांकि यह योजना कब जमीन पर उतरेगी यह अभी तय नहीं है।
इस सुविधा के शुरू होने के बाद पुलिस को जब जेल में बंद किसी कैदी को रिमांड पर लेना होगा तो पुलिस उससे वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ही पूछताछ कर सकेंगे। इससे न सिर्फ पुलिस का वक्त बचेगा बल्कि सुरक्षा की दृष्टि से भी यह सुरक्षित उपाय होगा। इसके अलावा अंडर ट्रायल कैदियों को भी कोर्ट में पेशी के लिए नहीं ले जाना होगा बल्कि जेलसे ही पूछताछ हो जाएगी।