J&K: जितेंद्र सिंह ने कहा,’राज्यपाल के विधानसभा भंग करने के फैसले का सम्मान करती है बीजेपी’

केंद्रीय मंत्री एवं बीजेपी के वरिष्ठ नेता जितेन्द्र सिंह ने शनिवार को कहा कि उनकी पार्टी राज्यपाल सत्यपाल मलिक के जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग करने के फैसले का सम्मान करती है, क्योंकि वह देश के संवैधानिक संस्थानों की पवित्रता बनाए रखने में विश्वास रखती है.

गौरतलब है कि पीडीपी के विपक्षी दल नेशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद राज्यपाल ने 21 नवम्बर की रात विधानसभा भंग कर दी थी. वहीं पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के दो सदस्यों ने बीजेपी और अन्य दलों के 18 विधायकों के समर्थन के दम पर सरकार बनाने का दावा भी पेश किया था.

सिंह ने एक समारोह के दौरान पत्रकारों से कहा,‘राज्यपाल द्वारा लिया गया फैसला सर्वोपरि है. वह जिस संस्था के प्रमुख हैं उसकी पवित्रता एवं सम्मान को ध्यान में रखते हुए, हम उनके फैसले को भविष्य में भी स्वीकार करेंगे.’

प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री ने आर एस पुरा से बीजेपी विधायक गगन भगत के राज्यपाल के फैसले के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में रिट याचिका दायर करने के सवाल पर यह बयान दिया.

गगन भगत को जुलाई में विवाहेतर संबंधों के आरोप में पार्टी की अनुशासन समिति ने छह महीने के लिए निलंबित कर दिया था. अगस्त में भी उन्होंने पार्टी के रुख से इतर जाते हुए धारा 35ए का समर्थन किया था. इस धारा के तहत जम्मू-कश्मीर के लोगों को विशेषाधिकार प्राप्त हैं.

भगत के कदम को तवज्जो ना देते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बीजेपी संवैधानिक संस्थानों में हस्तक्षेप नहीं करती और हमेशा राजभवन की पवित्रता बनाए रखेगी.