पुलवामा में सुरक्षा बलों-प्रदर्शनकारियों में झड़प, 10 घायल

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षा बलों तथा प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में शनिवार को कम से कम 10 लोग घायल हो गए।
पुलवामा के हंजन राजपोरा में सुरक्षा बलों की घेराबंदी तथा तलाश अभियान (कासो) के दौरान मुठभेड़ में चार आतंकवादियों के मारे जाने के विरोध में स्थानीय लोग सड़कों पर उतर आए और उत्पात मचाने लगे, जिन्हें तितर-बितर करने के लिए सुरक्षा बलों को लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले दागने पड़े।
हंजन, राजपोरा तथा पुलवामा के अन्य क्षेत्रों में प्रदर्शन कर रहे लोगों में युवा शामिल थे। प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी करते हुए जब सुरक्षा बलों के अभियान में बाधा डालने की कोशिश की, तो सुरक्षा बलों तथा राज्य पुलिस के जवान हरकत में आये और उन्हें आगे बढ़ने से रोक दिया।
सुरक्षा बलों के लाठीचार्ज करने के बाद भी पथराव कर रहे प्रदर्शनकारी नहीं भागे, तो सुरक्षा बलों ने आंसू गैस के गोले दागे। इस दौरान कम से कम 10 लोग घायल हो गये, जिन्हें उपचार के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जिनमें से एक व्यक्ति को बेहतर उपचार के लिए श्रीनगर भेजा गया है।
श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर विशेषकर पम्पोर तथा अवंतीपुरा में पथराव रोकने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है।
पुलवामा जिले में आज दूसरे दिन भी जनजीवन प्रभावित हुआ। दुकानें एवं व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे और सड़कों से वाहन नदारद रहे। सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकवादी के मारे जाने के बाद शुक्रवार को भी स्वत:स्फूर्त हड़ताल देखने मिली। प्रशासन ने अफवाह फैलने से रोकने के लिए एहतियातन पुलवामा में इंटरनेट सेवा स्थगित कर दी है।