कश्मीर यूनिवर्सिटी में जारी रहेगी दो प्रवेश परीक्षा

कश्मीर यूनिवर्सिटी एक साल में दो प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन जारी रहेगी। साल में प्रवेश परीक्षाओं का दो बार आयोजन उस समय तक होता रहेगा जब तक शैक्षिक शेड्यूल बहाल नहीं हो जाता है। कश्मीर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रफेसर तलत अहमद ने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक को यह जानकारी दी।

कश्मीर ऑब्जर्वर में छपे एक आधिकारिक प्रवक्ता के बयान के मुताबिक, ‘राज्यपाल ने यूनिवर्सिटी को नैशनल असेसमेंट ऐंड ऐक्रेडिटेशन काउंसिल (एनएएसी) की ओर से A+ ग्रेड मिलने पर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर को बधाई दी है। इसके अलावा राज्यपाल ने प्रफेसर अहमद को सलाह दी है कि प्राथमिकता के आधार पर परीक्षाओं में सुधार करें, शैक्षिक शेड्यूल को बहाल करें। साथ ही उन्होंने वाइस चांसलर से शैक्षिक और अनुसंधान गतिविधियों को अधिक उत्पादक बनाने को भी कहा है।’

‘राज्यपाल ने यह भी बताया कि परीक्षा सेवाओं को अधिक सक्षम बनाने के लिए कई नए कदम उठाए जा रहे हैं। राज्यपाल ने वाइस चांसलर से यह सुनिश्चित करने को कहा कि लद्दाख क्षेत्र के परीक्षा उप कार्यालय सक्षम तरीके से काम करें।’ वाइस चांसलर ने राज्यपाल को उन नए उपायों से अवगत कराया जो कश्मीर यूनिवर्सिटी द्वारा परीक्षा को अधिक सुचारू बनाने के लिए किए गए हैं।

वाइस चांसलर ने राज्यपाल को यूनिवर्सिटी की कई बड़ी अंतरराष्ट्रीय सहयोगात्मक अनुसंधान परियोजनाओं के बारे में भी बताया। कश्मीर यूनिवर्सिटी अमेरिका, कनाडा, फिनलैंड और जर्मनी जैसे देशों के साथ मिलकर इन परियोजना पर काम कर रही है। ये परियोजनाएं जैव विविधता, प्लेट टेक्टोनिक्स, भूविज्ञान और जलवायु परिवर्तन से संबंधित हैं।