पीएम मोदी ने श्रीनगर में कहा, हम जम्मू कश्मीर में आतंकवाद की कमर तोड़ देंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जम्मू में एक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) और एक भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) समेत विभिन्न विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखी. इसके बाद पीएम मोदी श्रीनगर से कॉलेज के छात्रों से बातचीत की और उनके सवालों के जवाब दिये.

उसके बाद मोदी ने श्रीनगर में सभा को संबोधित करते हुए कहा, मैं शहीद नजीर अहमद वानी और अन्य सभी बहादुर सैनिकों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं जिन्होंने राष्ट्र की रक्षा और शांति बनाए रखने के लिए खुद को बलिदान कर दिया. नजीर अहमद वानी को अशोक चक्र से सम्मानित किया गया. उनके जैसे युवा पूरे देश के युवाओं को राष्ट्र के लिए जीने के लिए प्रेरित करते हैं. आतंकवाद के बारे में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, हम हर आतंकवादी से उचित तरीके से निपटेंगे. हम जम्मू कश्मीर में आतंकवाद की कमर तोड़ देंगे और इससे अपनी पूरी ताकत के साथ लड़ेंगे. उन्‍होंने कहा, सर्जिकल स्ट्राइक से भारत ने दुनिया को (आतंकवाद पर) अपनी नयी नीतियों से अवगत कराया.

टेक्नॉलजी के माध्यम से तकरीबन 2.5 करोड़ छात्रों से संवाद के दौरान शिक्षा के क्षेत्र में किए गए प्रयासों पर पीएम मोदी ने कहा- ‘कौशल विकास के क्षेत्र में हमारी सरकार बेहतर प्रयास कर रही है. 4.5 साल के हमारे कार्यकाल में जितना भी काम हमने किया है उससे संतुष्ट हूं.’ उन्‍होंने कहा, मेरा संतोष सोने के लिए नहीं बल्कि नये सपनों को साकार करने के लिए है. मेरा संतोष निरंतर आगे बढ़ने के प्रयास का है.

डिजिटल इंडिया पर सवालों का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा- आधार डिजिटल क्रांति का ही हिस्सा है. जब मैं कहता हूं कि हमारे पास 120 करोड़ लोगों का डिजिटल डेटा है तो दुनिया को बड़ा आश्चर्य होता है.

एजूकेशन को टूरिज्म के साथ जोड़कर ओडिशा के विकास के सवाल पर बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- ‘हमारे देश में टूरिज्म के क्षेत्र में अपार क्षमता है, लेकिन इसके लिए जरूरी है कि हम अपनी विरासत पर गर्व करें. इकॉनमी के हिसाब से दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ने वाला सेक्टर टूरिज्म है.’

मोदी ने कहा कि नये एम्स की स्थापना से क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं में बदलाव आएगा और युवाओं को नये अवसर भी मिलेंगे. जम्मू के लोगों ने क्षेत्र में एम्स की स्थापना के लिए करीब दो महीने तक प्रदर्शन किया था. इस मांग के समर्थन में नेशनल कान्फ्रेंस (एनसी) और कांग्रेस ने भी यहां प्रदर्शन किये थे. प्रस्तावित एम्स 700 बिस्तरों का होगा.

प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य को पांच नये मेडिकल कॉलेजों की स्थापना के लिए 750 करोड़ रुपये दिये गये हैं. मोदी ने कहा कि इन मेडिकल कॉलेजों में सत्र जल्द शुरू होगा. पिछले 70 साल से एमबीबीएस की केवल 500 सीटें थीं, लेकिन भाजपा सरकार ने अब सीटों को दोगुना कर दिया है.

उन्होंने जम्मू में आईआईएमसी के उत्तर क्षेत्रीय केंद्र के परिसर का शिलान्यास किया. इसका निर्माण 16 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा. आईआईएमसी के महानिदेशक के जी सुरेश ने इस अवसर पर कहा, यह हमारे लिए गौरव का क्षण है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां आईआईएमसी परिसर की आधारशिला रखी है.

प्रधानमंत्री ने किश्तवाड़ में 624 मेगावाट की कीरू पनबिजली परियोजना की भी आधारशिला रखी. उन्होंने नौ मेगावाट की डाह जलविद्युत परियोजना का उद्घाटन किया. मोदी ने 220 किलोवाट की श्रीनगर-आलुस्टेंग-द्रास-करगिल-लेह ट्रांसमिशन प्रणाली को भी राष्ट्र को समर्पित किया. इस महत्वपूर्ण परियोजना का शिलान्यास मोदी ने अगस्त 2014 में किया था. उन्होंने सजवाल में चिनाब नदी पर 1640 मीटर चौड़े दोहरी लेन वाले पुल की आधारशिला रखी.