स्थानीय निकाय चुनाव : श्रीनगर के सौरा वार्ड में नहीं पड़ा एक भी वोट

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के शहरी स्थानीय निकाय चुनावों में मंगलवार को चौथे एवं अंतिम चरण के चुनाव में श्रीनगर नगर निगम के सौरा वार्ड से तीन उम्मीदवार मैदान में थे और यहां मतदाताओं की संख्या 11,265 थी लेकिन यहां दिन भर में एक भी वोट नहीं डाला गया.

अधिकारियों ने कहा कि भले ही इस बार के नगर निकाय चुनाव श्रीनगर एवं घाटी के कई दूसरे हिस्सों में कम मतदान की वजह से ही चर्चा में रहे लेकिन यह पहली बार हुआ जब पूरे वार्ड में एक भी मतदाता ने वोट नहीं डाला.

शहर के केंद्र लाल चौक से करीब 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित सौरा से तीन उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे. भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़ रहे कश्मीरी पंडित के अलावा एक उम्मीदवार शहर के हब्बा कदल से मैदान में था और दूसरा शहर के मुजगुंड इलाके से और वह सौरा से वोट डालने के पात्र नहीं थे. तीसरा उम्मीदवार इसी इलाके से था लेकिन उसने अपने मतदान अधिकार का इस्तेमाल नहीं किया.

कड़ी सुरक्षा वाले मतदान केंद्र को सुबह छह बजे खोल दिया गया था और मतदान के लिए शाम चार बजे तक ये केंद्र खुले रहे. लेकिन मतदान केंद्र 10 घंटे तक खाली पड़े रहे जहां युवा बीच-बीच में सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी करते रहे. अधिकारियों ने बताया कि इसे भावी मतदाताओं को मतदान नहीं करने के लिए डराने-धमकाने के प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है.

निगम वार्ड में सुरक्षा बलों एवं प्रदर्शनकारियों के बीच टकराव देखने को मिला जिसके चलते बीच-बीच में आंसू गैस के गोले छोड़े गए. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की तैनाती से पहले ही वहां धरना दे दिया था. सड़कों को अवरोधित करने के लिए पत्थर एवं अन्य अवरोधक लगाए गए.

श्रीनगर में पांच अन्य वार्ड भी हैं – जिनमें से एक में पहले चरण में चुनाव हुआ और अन्य दो-दो वार्डों में दूसरे एवं तीसरे चरण में चुनाव हुए जहां कुल मतदान 10 प्रतिशत से कम दर्ज किया गया.