कश्मीर में 30 हजार लोगों को क्वारंटाइन में रखने का प्रबंध

कश्मीर में दूसरे राज्यों से पहुंच रहे 30 हजार से अधिक श्रमिकों, विद्यार्थियों व अन्य लोगों को क्वारंटाइन में रखने के लिए अतिरिक्त व्यवस्था की जा रही है। उपराज्यपाल जीसी मुर्मू के सलाहकार बसीर खान ने बुधवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने जम्मू कश्मीर में पहुंच रहे लोगों को ठहराने की व्यवस्था का जायजा लिया। बसीर खान ने वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए कश्मीर के डिवीजनल कमिश्नर पांडुरंग के पोले, सभी डिप्टी कमिश्नरों, शेर-ए-कश्मीर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस के डायरेक्टर व मेडिकल कॉलेज श्रीनगर के प्रिसिपल से बातचीत की।

बसीर खान ने जानकारी दी कि कश्मीर के डिवीजनल कमिश्नर को क्वारंटाइन के लिए बुनियादी ढांचा तैयार करने के लिए जल्द 50 हजार गद्दे व इतनी ही चादरें दी जा रही हैं। इन्हें जरूरत के हिसाब से जिलों में बांटा जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना टेस्ट की क्षमता को बढ़ाया जाए ताकि अधिक से अधिक लोगों को होम क्वारंटाइन के लिए भेजा जाए। इससे प्रशासनिक क्वारंटाइन से पड़ने वाला बोझ कम होगा। डिप्टी कमिश्नर स्वास्थ्य निदेशक को बताएं कि उन्हें टेस्ट करने के लिए कितनी किट चाहिए। स्वास्थ्य निदेशक जल्द कोरोना टेस्ट किट उपलब्ध करवाने की दिशा में कार्रवाई करेंगे।

इस दौरान डिप्टी कमिश्नरों ने अपने जिलों में कोरोना की रोकथाम के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अगले 15 दिन में लोगों के पहुंचने को ध्यान में रखते हुए शिक्षण संस्थानों व कुछ अन्य भवनों में क्वारंटाइन सेंटर बनाने की तैयारी की गई है। डिप्टी कमिश्नर श्रीनगर ने बताया कि इस समय जिले में छह हजार लोगों को क्वारंटाइन में रखने की व्यवस्था है। अगले 15 दिन में पंद्रह हजार लोगों की पहुंचने की उम्मीद है। गांदरबल में 150 से अधिक बिस्तरों की व्यवस्था की जा रही है।ं बारामुला में नए पॉजिटिव मामले आने के बाद 17 नए रेड जोन बनाए गए हैं। डिवीजनल कमिश्नर ने जोर दिया कि सलाहकार अतिरिक्त फंड उपलब्ध करवाने की दिशा में कार्रवाई करें।