जम्मू-कश्मीर में 5522 यात्रियों का नया जत्था ‘बम-बम भोले’ के उद्घोष के साथ यात्री निवास भगवती नगर आधार शिविर से गुरुवार सुबह कड़ी सुरक्षा के बीच पवित्र अमरनाथ गुफा के लिए रवाना हुआ।

केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों की सुरक्षा के साथ तीर्थयात्रियों के 235 वाहनों को रवाना किया गया।

पहलगाम के लिए 2501 पुरुष, 354 महिलाएं, 22 बच्चे और 125 साधु आधार शिविर से 106 वाहनों से रवाना हुये और 1955 पुरुष, 517 महिलाएं , नौ बच्चे तथा 39 साधु 129 वाहनों के काफिले से बालटाल के लिये रवाना हुये।

कुल 235 वाहनों को दोनों मार्गों से आधार शिविर से रवाना किया गया। इसमें 93 भारी वाहन, 142 हल्के वाहन शामिल हैं।

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के सलाहकार के. के. शर्मा ने रविवार को हरी झंडी दिखाकर पहले जत्थे को रवाना किया था।

46 दिनों तक चलने वाली इस यात्रा को सुचारू और सफल बनाने के लिये बहु स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गयी है। यह यात्रा 15 अगस्त को श्रावण पूर्णिमा (रक्षाबंधन) के अवसर पर समाप्त होती है।