कश्मीर में पिछले एक महीने में 28 ओजीडब्ल्यू को गिरफ्तार किया, एक आतंकी ने समर्पण किया

कश्मीर में बीते एक महीने में आतंकवादी संगठनों के 28 सक्रिय सदस्यों (ओजीडब्ल्यू) को गिरफ्तार किया गया है और एक आतंकी ने आत्मसमर्पण किया है। इसके अलावा, छह आतंकी मॉड्यूलों का भांडाफोड़ किया गया है। पुलिस के प्रवक्ता ने शुक्रवार को बताया कि जम्मू कश्मीर पुलिस ने सेना के साथ मिलकर घाटी में आतंकवादियों के खिलाफ लड़ाई तेज करने के लिए विभिन्न कदम उठाए हैं। उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों की समन्वित कोशिशों ने आतंकवादियों और उनके ओजीडब्ल्यू पर जबर्दस्त दबाव बढ़ाया है। इस वजह से बीते एक महीने में 28 ओजीडब्ल्यू की गिरफ्तारी हुई है और छह आतंकी मॉड्यूलों का भांड़ाफोड़ किया गया है। प्रवक्ता ने कहा कि अवंतीपुरा पुलिस ने एक आतंकी मॉड्यूल का भांडाफोड़ किया है और तीन व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। इन व्यक्तियों पर जिले के लाडू इलाके में धमकी भरे पोस्टर चिपकाने के आरोप हैं। उन्होंने बताया कि उनके पास से प्रतिबंधित संगठन हिज्ब-उल-मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा के पोस्टर मिले थे। प्रवक्ता ने बताया कि गांदरबल पुलिस ने नारंग इलाके से दो ओजीडब्ल्यू को गिरफ्तार किया है और उनके पास से हथियार और कारतूस बरामद किए हैं। उन्होंने बताया कि सोपोर पुलिस ने रफियाबाद के चटलूरा गुंड मलराज क्रॉसिंग से लश्कर-ए-तैयबा के 10 ओडब्ल्यूजी को गिरफ्तार कर एक बड़ा आतंकी मॉड्यूल का भांड़ाफोड़ा किया। उनके पास से आपत्तिजनक सामग्री मिली थी। उन्होंने बताया कि आरोपी लोगों को धमकाने में शामिल थे। प्रवक्ता ने बताया कि लश्कर-ए-तैयबा के पोस्टर मॉड्यूल का भी भांडाफोड़ा किया गया और छह ओजीडब्ल्यू को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि वे इलाके में आगज़नी और धमकाने वाले पोस्टर लगाने में शामिल थे। प्रवक्ता ने बताया कि बाइपास क्रॉसिंग से गिरफ्तार किए गए ओजीडब्ल्यू के पास से दो ग्रेनेड बरामद किए गए हैं। उन्होंने बताया कि पुलवामा पुलिस ने आतंकवादियों के सहयोगियों के एक मॉड्यूल का भांडाफोड़ा किया और चार ओजीडब्ल्यू को गिरफ्तार किया। ये इलाके में विस्फोट करने के लिए जिम्मेदार हैं। उन्होंने बताया कि 25 नवंबर को बारामूला पुलिस ने विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) भर्ती प्रक्रिया को निशाना बनाने की कोशिश को नाकाम किया और चार ओजीडब्ल्यू को गिरफ्तार किया। उनके पास से चार ग्रेनेड बरामद किए गए हैं। प्रवक्ता ने बताया कि इस दौरान पुलवामा पुलिस के सामने एक आतंकवादी ने आत्मसमर्पण कर दिया। उन्होंने बताया कि श्रीनगर से भी एक ओजीडब्ल्यू को गिरफ्तार किया गया है।