कश्मीर के स्कूली बच्चों में कट्टर सोच भरने की फिराक में आतंकी संगठन

पाकिस्तान की शह पर आतंकवादी संगठन कश्मीर में स्कूली बच्चों को मोहरा बनाने की फिराक में हैं. इंटेलिजेंस एजेंसियों ने इस बारे में सुरक्षाबलों को अलर्ट किया है. इंटेलिजेंस इनपुट्स के मुताबिक आतंकी संगठनों ने कश्मीर में स्कूली बच्चों के जेहन में कट्टर सोच भरने का खाका तैयार किया है.

ऐसी रिपोर्ट हैं कि आतंकी संगठन इस खुराफात के लिए प्रतिबंधित संगठन ‘जमात-ए-इस्लामी कश्मीर’को आगे कर रहे हैं. ‘जमात-ए-इस्लामी कश्मीर’ को घाटी में स्कूली बच्चों में कट्टर सोच भरने का जिम्मा सौंपा गया है.‘जमात-ए-इस्लामी कश्मीर’ को इसी साल गृह मंत्रालय ने बैन किया है.
ये संगठन कश्मीर में स्थानीय स्तर पर समानांतर स्कूल व्यवस्था स्थापित करने की कोशिश कर रहा है. सूत्रों के मुताबिक इस समानांतर व्यवस्था का मकसद बच्चों में सत्ता प्रतिष्ठान विरोधी विचार भरना है. आतंकी संगठनों की एक तरफ ये रणनीति है तो दूसरी ओर घाटी में पहले से चल रही स्कूली व्यवस्था को निशाना बनाने की कोशिश भी की जा रही है.

लोगों में दहशत भरना चाहते हैं आतंकी संगठन

गुरुवार को चावलागाम में एक स्कूल की इमारत को अज्ञात लोगों ने जलाने की कोशिश की. स्कूलों में तोड़फोड़ के साथ ही आतंकी संगठन बच्चों के अभिभावकों के दिलों में दहशत भरना चाहते हैं. जिससे वो इन स्कूलों से अपने बच्चों को निकाल कर ‘जमात-ए-इस्लामी कश्मीर’ के स्कूलों में भेजने के लिए मजबूर हो जाएं.