कश्‍मीर: सेना बनी देवदूत, बर्फ में ढाई किमी गर्भवती महिला को स्‍ट्रेचर पर लेकर गए जवान, जुड़वा बच्‍च‍ियों का जन्‍म

जम्मू: जम्मू-कश्मीर में भारी बर्फबारी के बीच समय रहते मिली थलसेना की मदद से एक गर्भवती महिला ने जुड़वां बच्चियों को जन्म दिया है. थलसेना सही समय पर महिला की मदद के लिए सामने आई और उसे उत्तर कश्मीर के बांदीपुर जिला अस्पताल में भर्ती कराया. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि बीते आठ फरवरी को बांदीपुर में थलसेना की पनार शिविर के कंपनी कमांडर को एक ग्रामीण ने फोन किया और उसने अपनी गर्भवती पत्नी गुलशाना बेगम को अस्पताल ले जाने के लिए सेना की मदद मांगी.

उन्होंने बताया कि भारी बर्फबारी होने के कारण मौसम काफी खराब था. तापमान शून्य से सात डिग्री सेल्सियस कम था. अधिकारियों ने बताया कि बर्फबारी के कारण सड़कें बर्फ से पूरी तरह ढकी हुई थीं, जिससे गाड़ियों की आवाजाही नामुमकिन हो गई थी. लेकिन महिला को अस्पताल ले जाना जरूरी था.

ऐसे में बांदीपुर राष्ट्रीय राइफल्स के जवान भारी बर्फबारी और सड़कों पर मुश्किल हालात को धता बताते हुए कुछ ही समय बाद महिला के घर पर पहुंच गए और सड़क पर कमर तक जम चुकी बर्फ से पार पाते हुए उसे ढाई किलोमीटर तक एक स्ट्रेचर पर ले गए. इसके बाद सेना के एक एंबुलेंस से महिला को बांदीपुर जिला अस्पताल ले जाया गया. एक-एक पल की अहमियत समझते हुए थलसेना ने महिला के अस्पताल पहुंचने से पहले ही असैन्य (सिविल) अधिकारियों से बातचीत कर वहां डॉक्टरों का इंतजाम कर दिया था.

स्वास्थ्य जांच के बाद महिला को बताया गया कि वह जुड़वां बच्चों की मां बनने वाली है, जिसके लिए ऑपरेशन करने की जरूरत होगी. इसके बाद ऑपरेशन के लिए उसे श्रीनगर अस्पताल ले जाया गया. अधिकारियों के मुताबिक, महिला ने आठ फरवरी की ही रात जुड़वां बच्चियों को जन्म दिया.