डॉ. मुखर्जी के नाम पर हुई चिनैनी-नाशरी टनल, मंत्री जितेंद्र बोले पीओके में जल्द लहराएगा तिरंगा

जम्मू-कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनने से ठीक पहले सरकार ने एशिया की सबसे लंबी सुरंगों में शामिल चिनैनी-नाशरी सुरंग का नाम भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर कर दिया। गुरुवार को केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने इसकी घोषणा की। इस अवसर पर प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह भी मौजूद रहे।गडकरी ने बताया कि नौ किलोमीटर की यह देश की सबसे लंबी सुरंग है। करीब 2500 करोड़ रुपये की लागत से बनी यह सुरंग जम्मू को उधमपुर से रामबन होते हुए जोड़ती है। इससे दोनों शहरों के बीच की दूरी जहां 31 किलोमीटर घट गई, वहीं दोनों शहरों की दूरी तय करने में लगने वाला समय भी दो घंटे घट गया। इससे लोगों का समय एवं धन बचेगा। उल्लेखनीय है कि यह सुरंग जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 44 का हिस्सा है।

उधर चिनैनी में वीरवार को हुए कार्यक्रम के दौरान जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर स्थित टनल के बाहर नामकरण की प्लेट लगाई गई। इसे फूलों से सजाया गया था। सुबह साढे़ ग्यारह बजे के बाद केंद्रीय मंत्री आनलाइन आए और उन्होंने इसका आधिकारिक नाम शुरू करवाया। इस मौके पर टनल के पास बड़ी एलईडी स्क्रीन लगाई गई थी।