कश्मीर में शीतलहर जारी, कई जगहों पर पारा शून्य से नीचे पहुंचा

कश्मीर में कड़ाके की ठंड (cold) और शीतलहर पड़ने के कारण पारे में गिरावट आई है. रविवार को श्रीनगर (Srinagar) का रात का तापमान (temperature) शून्य से 0.6 डिग्री नीचे दर्ज किया गया, जबकि पहलगाम में शून्य से 10.2 डिग्री सेल्सियस नीचे और गुलमर्ग में शून्य से 10.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. मौसम विभाग के अधिकारी ने अपने पूर्वानुमान में 28 जनवरी और 29 जनवरी को और बर्फबारी होने की बात कही है.

मौसम विभाग, कश्मीर के निदेशक सोनम लोटस ने बताया, “28 और 29 जनवरी को पश्चिमी विक्षोभ के कारण ताजा बर्फबारी होगी.” उन्होंने कहा कि इस महीने के अंत तक कड़ाके की ठंड व शीतलहर से कुछ राहत मिलेगी.

कश्मीर में सर्दियों का नया चरण जिसे ‘चिल्लई कलां’ के नाम से जाना जाता है, 31 जनवरी को समाप्त हो जाएगा. 40 दिवसीय ‘चिल्लई कलां’ कश्मीर में सर्दियों का सबसे कठोर हिस्सा है, जिसमें तापमान घटकर हिमांक बिंदु के स्तर तक पहुंच जाता है. सर्द मौसम के कारण घाटी में लोगों की समस्याएं बढ़ गई हैं.

श्रीनगर के निवासी अब्दुल रहीम ने कहा, “पिछले दो सर्दियों में हमने अत्यधिक ठंड और बर्फबारी देखी है. इससे लोगों को बहुत कठिनाई हुई है.” इस साल कई दौर में बर्फबारी हुई है, जिससे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग अवरुद्ध हुआ, जो कश्मीर और देश के बाकी हिस्सों के बीच मुख्य सड़क मार्ग है.

हालांकि, श्रीनगर से जम्मू के लिए एक तरफा यातायात के लिए राजमार्ग सोमवार को खुला है.