दरबार परंपरा के तहत सचिवालय ने श्रीनगर में कामकाज शुरू किया

जम्मू कश्मीर सरकार के प्रशासनिक सचिवालय ने सोमवार को ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर से कामकाज शुरू कर दिया। करीब 150 साल पुरानी दरबार परंपरा के तहत साल में दो बार ऐसा किया जाता है।उप राज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू ने सुबह उस समय यहां सचिवालय लॉन में सलामी गारद का निरीक्षण किया जब अप्रैल के अंतिम सप्ताह में जम्मू में कार्यालय बंद होने के बाद यहां खुले। कोविड-19 के प्रकोप के कारण जम्मू क्षेत्र के कर्मचारी अपने घरों से काम करेंगे, वहीं श्रीनगर में सीमित संख्या में कर्मचारी दफ्तर आएंगे। केंद्रशासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में मार्च के तीसरे सप्ताह से लॉकडाउन लगा है, लेकिन स्थानीय प्रशासन ने श्रीनगर में उप राज्यपाल के प्रशासन के स्वागत के लिए शहर को सजाया-संवारा है। गर्मियों के छह महीने सचिवालय श्रीनगर से कामकाज करता है, वहीं बाकी छह महीने जम्मू में चलता है। करीब 148 साल पहले तत्कालीन महाराजा गुलाब सिंह ने जम्मू की तपतपाती गर्मियों और श्रीनगर की ठिठुरन वाली सर्दी से बचने के मकसद से यह परंपरा शुरू की थी। हालांकि आजादी के बाद की चुनी हुई सरकारों ने इस परिपाटी को जारी रखा।