राष्ट्रपति पुरस्कार विजेता हैं आतंकियों संग पकड़े गए डीएसपी देविंदर सिंह, अफलज गुरु ने लिया था नाम

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कुलगाम में चेकिंग के दौरान हिज्बुल के दो आतंकियों के साथ जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक डीएसपी को भी गिरफ्तार किया है।डीएसपी देविंदर सिंह प्रेजिडेंट पुलिस मेडल विजेता हैं और आतंकियों के खिलाफ प्रभावी ऑपेरशन की वजह से उन्हें इंस्पेक्टर के पद से प्रमोट करके डीएसपी बनाया गया था। अफजल गुरु के मामले में भी उनका नाम चर्चा में आया था। दिल्ली के लिए निकले कार से हथियार भी बरामद किए गए हैं।

पिछले साल ही मिला था राष्ट्रपति पुरस्कार
देविंदर सिंह को पिछले साल ही 15 अगस्त राष्ट्रपति पुलिस मेडल से नवाजा गया था। वह जम्मू-कश्मीर पुलिस के ऐंटी हाइजैकिंग स्क्वॉयड में शामिल थे। अभी उनकी तैनाती श्रीनगर इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर थी। इससे पहले 2001 में संसद पर हमले के बाद उनका नाम चर्चा में आया था। तब वह इंस्पेक्टर के रूप में स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप का हिस्सा थे। ऐंटी टेरर ऑपरेशन के बाद उन्हें प्रमोट करके डीएसपी बनाया गया था। बाद में वसूली का आरोप लगा और देविंदर सिंह को एसओजी से अलग कर दिया गया। कुछ समय के लिए वह सस्पेंड भी रहे और फिर श्रीनगर पीसीआर में तैनाती मिली। बाद में उन्हें ऐंटी हाइजैकिंग स्क्वॉयड में शामिल किया गया और पिछले साल श्रीनगर एयरपोर्ट पर तैनात किए गए।

घर से भी मिले हथियार
पुलिस अधिकारी इस मामले में चुप्पी साधे हुए हैं, लेकिन इंटेलिजेंस सूत्रों के मुताबिक, देविंदर की गिरफ्तारी के बाद श्रीनगर स्थित उनके आवास पर छापेमारी भी की गई। उनके घर से एक AK-47 रायफल, दो पिस्टल और तीन हैंड ग्रेनेड भी बरामद हुए हैं। श्रीनगर में उनका आवास बादामी बाग स्थित आर्मी हेडक्वॉर्टर के नजदीक अतिसुरक्षित शिवपोरा में है। सूत्रों ने बताया कि दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में त्राल स्थित उनके पैतृक घर पर भी छापेमारी हुई है। वह चार दिन की छुट्टी पर थे।