स्मार्ट सिटी की दौड़ में पिछड़े जम्मू-कश्मीर, बंगाल और पूर्वोत्तर राज्य, मध्यप्रदेश अव्वल

स्मार्ट सिटी की दौड़ में जम्मू-कश्मीर, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर राज्य पिछड़ गए हैं। शहरी विकास मंत्रालय ने 2015 में शुरू हुई इस योजना की प्रगति के कुछ आंकड़े जारी किए हैं। इसके मुताबिक इसमें मध्यप्रदेश सबसे आगे है। ज्यादातर राज्यों ने केंद्र से योजना के लिए मिली राशि का आधा ही इस्तेमाल किया है। सरकार ने अब तक सभी राज्यों को 18614.10 करोड़ रुपए जारी किए हैं। राज्यों ने इसमें से 9497.09 करोड़ रुपए यानी 51 फीसदी का इस्तेमाल किया। पूर्वोत्तर राज्यों में योजना की गति बहुत धीमी है। चयनित 100 शहरों ने 2.05 लाख करोड़ रुपए के 5151 प्रोजेक्ट के प्रस्ताव केंद्र को दिए। इनमें से 4178 प्रोजेक्ट के टेंडर जारी किए गए। जबकि 3376 का काम जारी है। वहीं, 1296 पूरे हो चुके हैं। अरुणाचल में दो मे से एक भी प्रोजेक्ट पूरा नहीं हुआ है। असम में 5 में से 2 पूरे हुए हैं। मणिपुर, मेघालय में एक भी प्रोजेक्ट पूरा नहीं हुआ। सिक्किम में एक और त्रिपुरा, नगालैंड, मिजोरम में आधे प्रोजेक्ट पूरे हुए हैं।